योग दिवस पर बी एंड डब्ल्यू.एस.एस.सी की नई योग बुकलेट ‘से यस टू योग,से नो टू रोग’ लॉन्च

  |    June 22nd, 2019   |   0

नई दिल्ली (राजेश शर्मा)- अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के दिन बी एंड डब्ल्यू.एस.एस.सी ने समाज में जागरूकता के लिए एक योग बुकलेट को लॉन्च किया, ताकि लोगों को अधिक समय तक याद रहे और इस पुस्तक को पढ़कर योग के सही तरीकों को जान सकें।

बी एंड डब्ल्यू.एस.एस.सी की योग बुकलेट को लॉन्च करते डॉ. ब्लॉसम कोचर, गीता रमेश, कैराली, अर्पिता दास, बीनेस बॉय अर्पिता, डॉ. आर.एन. नायर।

बी एंड डब्ल्यू.एस.एस.सी हमेशा योग संबंधित कार्यक्रमों को बढ़ावा देने और आयोजित करने में सक्रिय रहा है, और इन्हीं प्रयासों को आगे बढ़ाते हुए योग पर लिखी एक किताब का विमोचन किया गया। दिल्ली में आयोजित पुस्तक विमोचन कार्यक्रम के दौरान डॉ. ब्लॉसम कोचर, गीता रमेश, कैराली, अर्पिता दास, बीनेस बॉय अर्पिता, डॉ. आर.एन. नायर, बापू नेचर क्योर हॉस्पिटल एंड योगाश्रम जैसे ब्यूटी एंड वेलनेस क्षेत्र के प्रतिष्ठित एवं गणमान्य लोगों की उपस्थिति दर्ज की गई। आयोजकों ने कहाकि हमें गर्व है कि देश के प्रधानमंत्री मोदी भी हमारे दैनिक जीवन में योग के लाभों पर जोर दे रहे हैं, तो हमारा भी फर्ज़ बनता है कि हम भी इस में सहयोग दें।

प्रधान मंत्री के दृष्टिकोण को आगे बढ़ाते हुए अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय कौशल विकास निगम की सहभागिता में स्थापित, ब्यूटी एंड वेलनेस सेक्टर स्किल कांउसिल ने अपनी पहली योग पुस्तक ‘से यस टू योग, से नो टू रोग’ को प्रस्तुत किया।

‘से यस टू योग, से नो टू रोग’ किताब, में मुख्य रूप से पांच अध्याय हैं जिनमें योग के इतिहास और उत्पत्ति, योग क्यों, योग के लाभ, हर दिन जीवन में योग की प्रासंगिकता और योग को बढ़ावा देने में बी एंड डब्ल्यू.एस.एस.सी के विभिन्न प्रयासों का विवरण शामिल हैं।

बी एंड डब्ल्यू.एस.एस.सी सी.ई.ओ. गीतांजलि अग्रवाल ने पुस्तक लॉंच के मोके पर लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि “हम अपने प्रधानमंत्री के नक्शेकदम पर चल रहे हैं ताकि फिटनेस मंत्र अर्थात योग का प्रचार किया जा सके। इसलिए, अपने उद्योग और प्रशिक्षण भागीदारों के माध्यम से, हम विभिन्न संस्थानों को के तहत लोगों को सक्रिय रूप से प्रशिक्षित करने और प्रमाण-पत्र प्रदान करने के लिए सक्रियता से काम कर रहे हैं।“

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सालों से योग कर रहे हैं और उनके प्रयासों से ही 21 जून का दिन आज पूरी दुनिया में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के तौर पर मनाया जा रहा है। उन्होंने ही संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण में 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के तौर पर मनाए जाने का प्रस्ताव रखा था, जिसे सर्वसम्मति से पारित कर पूरी दुनिया योगमय हो रही है।

ध्यान रहे कि ब्यूटी एंड वेलनेस सेक्टर स्किल कांउसिल एक समाजिक संगठन है, जिसे कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय के तत्वावधान में एनएसडीसी से वित्तीय सहायता के साथ स्थापित किया गया है। बीएंडडब्ल्यूएसएससी का उद्देश्य सामग्री और पाठ्यक्रम, सूचना डेटाबेस, वितरण प्रणाली, और मान्यता और प्रमाणन प्रक्रिया के मानकीकरण के माध्यम से सौंदर्य और कल्याण उद्योग में कौशल विकसित करने और प्रभावी बनाने के लिए एक प्रभावी और कुशल ईको-सिस्टम स्थापित करना है, ताकि भारतीय कार्यबल विश्व स्तर पर रोजगार प्राप्त करने में मूलभूत सुधार हो सके।