एआईबीए युवा महिला विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप का शुभंकर लांच

  |    November 6th, 2017   |   0

19 से 26 नवम्बर के बीच असम में होगी महिला विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप 

गुवाहाटी 6 नवंबर (News4city Sports Desk) दुनिया भर में मशहूर असम के एक सींग वाले गैंडे को सोमवार को यहां एक रंगारंग कार्यक्रम में 2017 एआईबीए युवा महिला विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप का आधिकारिक शुभंकर चुना गया।

मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल और भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के अध्यक्ष अजय सिंह ने चैम्पियनशिप का आधिकारिक लोगो और गान (एंथम) लांच किया। इसी के साथ 19 से 26 नवम्बर तक असम की राजधानी में होने वाले इस आयोजन का काउंटडाउन शुरू हो गया। टूर्नामेंट का उद्घाटन समारोह 19 नवम्बर को मौलाना मोहम्मद तैबुल्ला हॉकी स्टेडियम में होगा।

सोनोवाल ने खासतौर पर इस आयोजन को लेकर खुशी जताई क्योंकि वह मानते हैं कि यहां आने वाले मुक्केबाजों और प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों को राज्य की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत, विविध वन्यजीवों और प्राकृतिक सुंदरता को देखने और अनुभव करने का मौका मिलेगा।

इस आयोजन के लिए चुने गए आधिकारिक शुभंकर  को ‘गुप्पी’ नाम दिया गया है। यह असम में पाए जाने वाले एक सींग वाले गेंडे का मादा वर्जन है। यह शक्ति और धैर्य का प्रतीक है और भारतीय महिलाओं को इसी रूप में जाना जाता है। साथ ही ये गुण मुक्केबाजी से भी काफी हद तक जुड़ा हुआ है।

इस आयोजन का लोगो दो विशेषताओं पर प्रकाश डालता है। पहला-महिला मुक्केबाज के तौर पर भारतीय नारी की शक्ति और दूसरा-हाथों से बनाए जाने वाले कपड़े के टुकड़े ‘गामोसा’ के रूप में यहां की संस्कृति। गामोसा में भारतीय तिरंगे के तीन रंगों-सफेद, हरे और केसरिया का शानदार मिश्रण होता है।

विश्व चैम्पियनशिप का आधिकारिक एंथम (गान)-मेक सम नॉइज सबको पसंद आया है। भारतीय प्रतिनिधिमंडल ने भी इसे काफी पसंद किया। यही नहीं, भारतीय दल के परफार्मेंस डाइरेक्टर बेर्गामास्को रफाएल तथा मुख्य कोच भास्कर भट्ट को भी यह काफी पसंद आया है।

इस अवसर पर बीएफआई प्रमुख अजय सिंह ने कहा, ‘‘मैं मुख्यमंत्री और असम सरकार को चैम्पियनशिप के लिए प्रदान किए जा रहे समर्थन के लिए धन्यवाद देना चाहूंगा। असम ने हमेशा से मुक्केबाजों और मुक्केबाजी आयोजनों को सहयोग और समर्थन दिया है और और यही कारण है कि देश के कुछ श्रेष्ठ मुक्केबाज इस राज्य से आते हैं।’’

असम सरकार ने विश्व चैम्पियनशिप के लिए खास तैयारी की है। इसके लिए विश्व स्तरीय एरेना बनाया गया है। खिलाड़ियों के लिए शानदार लॉकर रूम्स और चेंजिंग रूम्स बनाए गए हैं। साथ ही यहां एक अत्याधुनिक जिम भी बनाया गया है।

इस चैम्पियनशिप में 20 सदस्यीय भारतीय दल हिस्सा ले रहा है , बीएफआई अध्यक्ष ने कहा, ‘‘ये युवा महिलाएं हमारी भविष्य की चैम्पियन है। इन सबने काफी कठिन मेहनत की है और मुझे यकीन है कि ये अपने देश का मान बढ़ाएंगी।’’

इस नाकआउट चैम्पियनशिप में 38 देशों के 16 से 17 आयु वर्ग की 200 मुक्केबाज हिस्सा लेंगी। प्रीलिम टूर्नामेंट का आयोजन 19 से 22 नवम्बर के बीच होगा और फिर 24-25 नवम्बर को सेमीफाइनल खेले जाएंगे। फाइनल 26 नवम्बर को होना है।

10 विभिन्न वजन वर्ग में 176 मुकाबले होंगे तथा इस दौरान कुल 40 पदकों के लिए होड़ लगेगी। इनमें 10 स्वर्ण, 10 रजत और 20 कांस्य हैं। साथ ही इसमें हिस्सा लेने वाले मुक्केबाज 2018 में ब्यूनस आयर्स में होने वाले यूथ ओलम्पिक के लिए योग्यता हासिल करने का प्रयास करेंगी।