कोरोना से टीचर की मौत, परिवार को देंगे एक करोड़ की सम्मान राशि : केजरीवाल

  |    May 12th, 2020   |   0

नई दिल्ली (भारती सैनी)- कोरोना महामारी के दौर में दिल्ली के लोगों की सेवा करते हुए टीचर श्रीमती बैकाली सरकार की कोरोना के कारण 4 मई को उनका देहांत हो गया। श्रीमती बैकाली रोहिणी में रहती थीं और एमसीडी के स्कूल में कंस्ट्रैक्चुअल टीचर थीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि बैकाली जी के परिवार को दिल्ली सरकार की तरफ से एक करोड़ रुपये की सम्मान राशि दी जाएगी। उनकी जान की कोई कीमत नहीं है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पत्रकारों को जारी संदेश में बताया कि दिल्ली सरकार बीते कई दिनों से हंगर रिलीफ सेंटर में गरीबों के लिए खाना बांट रही है। ऐसे ही एक हंगर रिलीफ सेंटर में श्रीमती बैकाली जी की ड्यूटी लगी थी, जहां पर वह गरीबों को पका हुआ खाना बांट रही थीं।

उनकी ड्यूटी 10 अप्रैल को लगी थी। इसके बाद 17 और 18 अप्रैल को लगी। तीनों दिन उन्होंने ड्यूटी कीं। इसके बाद 25 अप्रैल को लगी ड्यूटी में वह बीमारी के कारण ड्यूटी पर नहीं आ सकी। इसके बाद उन्हें रोहिणी के डाॅ. अंबेडकर अस्पताल में भर्ती कराया गया। उसके बाद उन्हें राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। जहां पर 4 मई 2020 को उनका देहांत हो गया।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि खाना बांटते समय उन्हें भी कोरोना हो गया और कोरोना की वजह से ही उनका देहांत हो गया। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे और उनके परिवार को यह दुख सहने की शक्ति दे। हम सभी देश और दिल्ली के लोगों को अपने ऐसे कोरोना योद्धाओं पर गर्व हैं, जो अपनी जान जोखिम में डाल कर समाज की सेवा कर रहे हैं।

अपने घर का कोई व्यक्ति चला जाता है, तो उसकी जान की कोई कीमत नहीं होती है। फिर भी उनके जाने के बाद उनके परिवार की मदद के लिए दिल्ली सरकार एक करोड़ रुपये की सम्मान राशि देकर मदद करेगी।