SSB ने सेपक टकरा खिलाङियों को दिया आउट ऑफ टर्न प्रमोशन 

  |    September 21st, 2018   |   0

खिलाड़ियों की सुविधाओं के लिए SSB ने किया स्पोर्ट्स एप्प लांच

नई दिल्ली(आर.के.शर्मा)-  एसएसबी ने आर.के. पुरम स्थित अपने मुख्यालय में सोमवार को 18वें एशियाई खेलों में शानदार प्रदर्शन करने वाले 30 खिलाड़ियों को सम्मानित किया।  इस अवसर पर एसएसबी के महानिदेशक रजनीकांत मिश्रा ने खिलाड़ियों को महानिदेशक डिस्क, महानिदेशक प्रशस्ति-पत्र, एवं पदक विजेताओं और एशियाई खेलों में भाग लेने वाले खिलाड़ियों को नकद पुरस्कार देकर सम्मानित किया। इसके साथ ही महानिदेशक ने पदक विजेता भारतीय सेपक टकरा टीम के हिस्सा रहे सशस्त्र सीमा बल के 10 खिलाड़ियों को उनके शानदार उपलब्धि के लिए उन्हें आउट ऑफ़ टर्न प्रमोशन प्रदान किया।

वहीं इस अवसर पर महानिदेशक रजनीकांत मिश्रा ने खिलाड़ियों की सुविधाओं के लिए एसएसबी स्पोर्ट्स एप्प को भी लांच किया। उन्होंने कहा कि इस एप्प के माध्यम से खिलाड़ियों को हर तरह की जानकारी मुहैया करवाई जाएगी और इससे  खिलाड़ियों को काफी फायदा होगा। इसके साथ ही महानिदेशक ने  18वें एशियाई खेलों में शामिल सभी खिलाड़ियों के प्रदर्शन की काफी प्रशंसा की और साथ उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

वहीं इस दौरान पदक विजेता खिलाड़ियों ने बड़े ही उत्साह से अपने-अपने अनुभव शेयर किये। साथ ही खिलाड़ियों ने कहा कि वे आने वाले दिनों में पदकों के रंग बदलने और बेहतर से बेहतर प्रदर्शन करने की हर संभव कोशिश करेंगे कार्यक्रम के दौरान कांस्य पदक विजेता जी. जितेशोर शर्मा, संजेच्क सिंह, सीताराम सिंह, ललित कुमार, वाई आकाश सिंह, एस. मलेम्न्गंबा सिंह, संदीप कुमार, जोतिन सिंह, धीरज और हेनरी सिंह समेत कई अन्य खिलाड़ी एवं एसएसबी के आला अधिकारी उपस्थित रहे।

गौरतलब है कि इंडोनेशिया के जकार्ता और पालेमबांग में 18 अगस्त से 2 सितंबर के बीच 18वें एशियाई खेलों का आयोजन हुआ, जिसमें भारतीय दल ने कुल 15 गोल्ड 24 सिल्वर और 30 ब्रॉन्ज मेडल समेत कुल 69 मेडल जीतकर 8वां स्थान हासिल किया। 18वें एशियाई खेलों में कुल 69 मेडल जीतकर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए भारतीय खिलाड़ियों ने वर्ष 2010 में जीते गए कुल 65 पदकों के रिकॉर्ड को भी तोड़ डाला। वहीं स्वर्ण पदक जीतने के मामले में  भारतीय खिलाड़ियों ने कुल 15 स्वर्ण जीतकर भारतीय सरजमीं पर वर्ष 1951 में हुए एशियाई खेलों में जीते गये स्वर्ण की बराबरी भी कर ली।