महिला कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ शर्मिष्ठा मुखर्जी ने पेड़ बचाने की मुहिम को तेज किया

  |    June 26th, 2018   |   0

केन्द्र व दिल्ली सरकार ने लिया 16500 पेड़ों को काटने का निर्णय

यनई दिल्ली(भारती शर्मा)-दिल्ली प्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्षा शर्मिष्ठा मुखर्जी के नेतृत्व में लीला पेलेस होटल चौक होशियार सिंह मार्ग नजदीक सरोजनी नगर पर “पेड़ बचाओं अभियान” की शुरूआत की। आज के इस कार्यक्रम में सेकड़ों महिला कार्यकर्ताओं ने भाग लिया क्योंकि केन्द्र की भाजपा सरकार व आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार ने सरोजनी नगर-नरौजी नगर क्षेत्र में तकरिबन 16500 पेड़ों को काटे जाने का निर्णय लिया है। 

शर्मिष्ठा मुखर्जी ने महिला कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर पेड़ों को सुरक्षा बैंड बांधे जिन पर “पेड़ बचाने को हाथ बढ़ाऐं,आओं मिलकर दिल्ली बचाऐं”, “महिला कांग्रेस ने आवाज उठाई, पेड़ बचाने की लड़ों लड़ाई” इत्यादि नारे लिखे हुऐ थे।

महिला कांग्रेस कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुऐ शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि भाजपा की केन्द्र सरकार और आप पार्टी की दिल्ली सरकार दोनों दिल्ली में बिगड़ते पारिस्थितिक तंत्र तथा दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण जो कि खतरे के स्तर से भी ऊपर चला गया है उसके प्रति असंवेदनशील है।

कार्यक्रम मे शर्मिष्ठा मुखर्जी के अलावा पेड़ बचाओं अभियान में  ए.आई.एम.सी. दिल्ली इन-चार्ज शमीना शफाक़, डी.पी.एम.सी जिला अध्यक्षा पुष्पा सिंह, राजकुमारी ढ़िल्लों, कमलेश चैधरी, गीता शर्मा, इन्दु सुरी, साई अनामिका तथा अन्य महिला कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भी भाग लिया। शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि जबसे केन्द्र मे भाजपा तथा दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार आई है तब से दिल्ली का हरित क्षेत्र तेजी से कम हो रहा है क्योंकि दिल्ली के वातावरण की परवाह न करते हुऐ दिल्ली में तेजी से पेड़ों की कटाई हो रही है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में फैले खतरनाक प्रदूषण की वजह से बूजुर्ग लोगों तथा बच्चों में सांस की बिमारियों में तेजी से वृद्धि हुई है।

शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि दिल्ली में 2014 से अप्रैल 2018 तक तकरिबन 15000 पेड़ काटे गए है और प्रगति मैदान में नई एक्ज़ीबिशन बिल्डिंग बनाने के लिए 1700 पेड़ों को काटने का  निर्णय लिया गया था।

शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि क्योंकि दिल्ली देश की राजधानी है और यहां पर अन्तर्राष्ट्रीय कार्यक्रम बहुत ज्यादा होते है जहां पर विदेशों की प्रमुख हस्तियां भाग लेती है और यदि दिल्ली में इसी प्रकार पेड़ों की कटाई होती रही और प्रदूषण कम नहीं हुआ तो एक दिन ऐसा आऐगा कि दिल्ली में विदेशी मेहमान तथा पर्यटक आने बन्द हो जाऐंगे और दिल्ली वालों का जीना भी दूभर हो जाऐगा।

शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार तथा दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार को दिल्ली के ग्रीन कवर तथा बढ़ते प्रदूषण को लेकर एक श्वेत पत्र लाना चाहिए ताकि दिल्ली को रहने लायक बनाया जा सके।