शांति ज्ञान निकेतन सी.सै.पब्लिक स्कूल में हुआ स्पोर्ट्स फिएस्टा-2017 का आयोजन

  |    December 10th, 2017   |   0

नई दिल्ली(संवाददाता)- शांति ज्ञान निकेतन स्कूल द्वारका विद्यालय के छात्र छात्राओं को खेलों में बढ़ावा देने के लिए स्पोर्ट्स फिएस्टा का आयोजन किया, जिसका शुभारंभ मुख्यातिथि साउथ-वेस्ट-बी क्षेत्र की शिक्षा अधिकारी विमला कुमारी द्वारा दीप प्रज्जवलित करके किया गया।

कार्यक्रम के प्रथम दिवस विद्यालय के 108 छात्र-छात्राओं ने महामृत्युंजय मंत्र व ओम शब्दों की उच्चारित ध्वनि पर “योगा” की अनेक मनमोहक मुद्राओं को आश्चर्य जनक प्रस्तुति दी।

स्पोर्ट्स फिएस्टा के दौरान स्कूल के खिलाड़ियों ने वॉलीबाल, हैंडबॉल, लॉन टेनिस, बास्केट बॉल, स्केटिंग, स्नूकर, ताइक्वांडो, एथलेटिक्स, अदि खेलों में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। विद्यालय में इन खेलों के आयोजन का मुख्य उदेश्य एशियाड, कॉमनवेल्थ व ओलिंपिक खेलों में खिलाडी भेजना है। यदि अंतर्राष्ट्रीय खेलों में मैडल चाहिए तो यह प्रयास हमें स्कूल स्तर से ही करना होगा।

इस पावन अवसर पर शांति ज्ञान निकेतन स्कूल के संस्थापक व प्रबंधक राजकुमार खुराना ने खेलों को बढ़ावा देने के लिए अभिभावकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आगामी समय खेलों का है। हम अपने छात्रों को राष्ट्रीय व अंतराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाना चाहते है। ओलंपिक में पदक पाना चाहते है तो आपको भी इन खिलाडी छात्रों को प्रोत्साहन देना होगाI खुराना ने बताया कि यदि शैक्षिक अंको के सहारे किसी खिलाडी को उच्च शिक्षा में प्रवेश नहीं मिलता है तो उस खिलाड़ी को यदि किसी भी खेल में महारत हासिल प्राप्त करने का प्रमाण पत्र है तो उसे इस आधार पर प्रवेश आसानी से मिल जाता है।

खेलों में विशेष स्थान प्राप्त करने वाले छात्रों को “खेल कोटे” के आरक्षित पदों में नौकरी पाना भी बेहद आसान होता है। इसलिए हमें खेलों को विशेष बढ़ावा देना चाहिए। खेलों से हमें मान-सम्मान, यश-वैभव व पहचान भी तो मिलती है। इस स्पोर्ट्स फिएस्टा-2017 में विजेता व उपविजेता छात्र-छात्राओं को स्वर्णपदक व रजतपदक देकर सम्मानित किया गया।

स्कूल प्रशासक आकाश खुराना ने भारत सरकार कि “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ” योजना को बढ़ावा देते हुए वही “बेटी खिलाओ” की योजना को साकार करते हुए स्कूल की बालिकाओ ने इस स्पोर्ट्स फिएस्टा में बढ़-चढ़कर भाग लिया। विद्यालय की बालिका रीतिका कादयान ने साउथ एशियन चैम्पियनशिप कोलंबो (श्रीलंका) 2017 में आयोजित कराटे प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक व इंस्तांबुल (तुर्की) सितम्बर 2017 में आयोजित कराटे प्रतियोगिता में भी पांचवा स्थान प्राप्त किया। इसी विद्यालय की छात्रा हर्षिता सहरावत ने भी “स्कूल नेशनल रिकॉर्ड होल्डर हैमर थ्रो” भोपाल (मध्यप्रदेश) 2017 में पुराने रिकॉर्ड को तोड़ कर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया।

कार्यक्रम की सफलता पर अशवनी कुमार ने सभी अभिभावकों के सहयोग पर हार्दिक धन्यवाद् किया। अभिभावकों ने बच्चों द्वारा प्रस्तुत सभी खेल कार्यक्रमों की मुक्त कंठ से प्रशंसा की।