शाह सतनाम जी बॉयज स्कूल सिरसा के अमित कुमार एशियाई खेलों में शामिल

  |    August 20th, 2018   |   0

नई दिल्ली (खेल डेस्क)- इंडोनेशिया के जकार्ता में खेले जा रहे 18वें एशियन खेलों के लिए डेरा प्रेमियों के बच्चों का भी चयन हुआ है। ये खिलाङी भी शानदार प्रदर्शन कर अपने देश व माता-पिता का नाम रौशन करने के लिए तैयार हैं। जकार्ता में होने वाले वॉलीवॉल खेल में टीम इंडिया की तरफ से बलवान पुत्र अमित कुमार का भी भारतीय टीम में चयन हुआ है।
शाह सतनाम जी बॉयज स्कूल सिरसा के छात्र रहे वॉलीवॉल खिलाङी अमित कुमार ने अपनी अथक मेहनत के बल पर वॉलीवॉल टीम इंडिया में जगह बनाई है। अमित ने अपने खेल करियर की शुरूआत अंडर-14 से 2010-11 में पहली बार स्कूल नेशनल गेम से की थी।
इसके बाद अमित ऐशियन स्कूल गेम (2015) थाईलैंड, साऊथ ऐशियन स्कूल गेम्स कैंप-2016 (बैंगलौर), जूनियर इंडिया कैंप-2016 (गुजरात), क्लब गेम्स, म़लदीव (2016), कतर टीम के साथ 2018 में कतर में खेले गए मुकाबले में शिरकत की है, वहीं साऊथ अफ्रिका में हुए ब्रिक्स गेम्स-2018 के दौरान कांस्य पदक जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा भी रहे हैं।
25 अप्रैल 1998 को हरियाणा के झझर में जन्में अमित कुमार ने वॉलीवॉल खेल में अंडर-14 से 2010-11 में पहली बार स्कूल नेशनल गेम में अपना नाम दर्ज करवाया। उसके बाद दिसंबर 2012 को राजस्थान में हुए अंडर-19 सीबीएसई नेशनल व फरवरी 2013 कर्नाटक में हुए अंडर-17 स्कूल नेशनल में गोल्ड पदक जीत कर डेरा व अपने माता-पिता का नाम रौशन किया। इसके बाद अमित कुमार लगातार अपना बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए अनेक बार गोल्ड, सिलवर व रजत पदक जीतने में सफल हुए हैं।
यह कोई पहला अवसर नहीं है कि जब डेरा प्रेमियों के बच्चे अपना हुनर दिखा रहे हों। इससे पहले भी डेरा प्रेमियों के सैंकङों बच्चों ने अपने गुरू राम रहीम सिंह जी इन्सा की प्रेरणा से खेलों में कई राष्ट्रीय-अन्तर्राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाने में सफलता हासिल की है।
हरियाणा में सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा आश्रम राम रहीम सिंह जी इन्सा के मार्ग दर्शन में बीते कई वर्षों से समाज में अध्यात्म का संदेश देने, समाजिक कुरीतियों को दूर करने, आपसी भाईचारे को बढ़ाने व मानवता भलाई के कायों में सदैव रहा है और समाज सेवा के क्षेत्र में कई विश्व रिकॉर्ड भी बनाए हैं।