रोहिणी सैक्टर-8 के सर्वोदय विद्यालय में अभिभावकों के लिए कार्यशाला आयोजित

  |    May 27th, 2018   |   0

नई दिल्ली(राजेश शर्मा)- शिक्षा में बहेतरी के लिए जिस प्रकार स्कूलों में PTM का आयोजन किया जाता है, ठीक उसी तर्ज पर दिल्ली सरकार द्वारा सरकारी स्कूलों में अभिभावकों के लिए भी कार्यशाला आयोजित करने की परंपरा शुरू की गई है।  रोहिणी सैक्टर-8 के सर्वोदय विद्यालय में शनिवार को स्कूल में पढ़ने वाले छात्रों के अभिभावकों के लिए कार्यशाला आयोजित की गई, जिसमें सैंकङों अभिभावकों ने शिरकत की। इस दौरान स्कूल प्रधानाचार्य अवधेश कुमार झा, स्कूल प्रबंधक कमेटी के अधिकारी एडवोकेट धर्मवीर शर्मा भी मुख्य रूप से उपस्थित रहे।स्कूल प्रधानाचार्य अवधेश कुमार झा ने बताया कि कार्यशाला का मुख्य उदेश्य अभिभावकों के मन में छात्रों की पढ़ाई को लेकर उठ रही विभिन्न प्रकार की शंकाओं का समाधान करना, स्कूली गतिविधियों के बारे में जानकारी देने के अलावा अभिभावकों को समझाने का प्रयास किया गया कि वो अपने बच्चों को किस प्रकार स्कूल का कार्य करवाएं और अभिभावक अपने बच्चों को जीवन में काबिल व श्रेष्ठ नागरिक बनाने में कैसे सहयोग दे सकते हैं।

माता-पिता को समझाने का प्रयास किया गया कि वो अपने बच्चों को धमकाने या पीटने की बजाय प्यार से बाते करें, पीटने से बच्चों का दिमाग काम नहीं करता है, वो जिद्दी हो जाते हैं, लेकिन प्यार से समझाने पर हर बच्चा खुशी से मन से बेहतर काम करना सीख जाता है।

कार्यशाला के मौके पर स्कूल में उपस्थित एसएमसी सदस्य एडवोकेट धर्मवीर शर्मा ने बताया कि यह दिल्ली सरकार का सराहनीय कदम है, इस प्रकार की गतिविधियों से छात्रों, अध्यापकों व अभिभावकों के बीच की दुरी कम होती है, और छात्रों के हितों पर अधिक ध्यान दिया जाता है।

कार्यशाला में अभिभावकों को बताया गया कि वो  शिक्षा की सीढ़ी से किस प्रकार अपने बच्चों के सुधार को जान सकते हैं। माता-पिता बच्चों के साथ किस प्रकार का व्यवहार करें, बच्चों में बढ़ती गंदी आदतों को कैसे छुङाएं, घरों में बच्चों को सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़ाने के लिए क्या-क्या कदम उठाने जरूरी हैं, इन तमाम विषयों पर गंभीरता से चर्चा की गई।
वर्कशॉप में शामिल हुए अभिभावकों ने माना कि वर्कशॉप सब के लिए लाभकारी रही। वर्कशॉप में आने से पता चला है कि स्कूल हमारे बच्चों के लिए क्या करता है, क्या-क्या कार्य यहां करवाए जाते हैं।