संस्कारित बच्चे ही दे सकते हैं देश सही दिशा : डॉ. अशोक कुमार ठाकुर

  |    November 28th, 2019   |   0

नई दिल्ली (संवाददाता)-  समाजसेवी संस्था दीक्षांक के तत्वाधान में अभ्युदय कार्यक्रम जीएसवीएम के सभागार में सम्पन किया गया। यहां भारतीय शिक्षण व्यवस्था विषय पर भारतीय संस्कृति एवं शास्त्रीय संगीत का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ माँ सरस्वती की वंदना व दीप प्रज्वलन के साथ किया गया।

इस मौके पर मुख्य अतिथि रही महापौर प्रमिला पांडेय ने कहा कि इस तरह के आयोजन बच्चों के भविष्य को उज्ज्वल बनाने में महती भूमिका अदा करते है।

कार्यक्रम के दौरान एडीजी  प्रेम प्रकाश ने  संविधान दिवस के ऊपर बच्चियों को प्रोत्साहित किया और कार्यक्रम की सराहना करते हुए कहा कि ऐसे आयोजनों से बच्चों को नई दिशा मिलती है। मुनि इंटर नेशनल स्कूल दिल्ली के संस्थापक डॉ अशोक कुमार ठाकुर ने अपने विचार व्यक्त करते हुए बच्चों को संस्कारवान बनाने पर जोर दिया। उन्होंने कहाकि बच्चों को संस्कार देने की जिम्मेदारी स्कूलों की होनी चाहिए क्योंकि संस्कारवान व्यक्ति ही मानवीय भावनाओं को सही तरीके समझता है, संस्कारित बच्चे देश को सही दिशा में ले जासकते हैं।

वहीं अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त बांसुरी वादक चेतन जोशी ने शास्त्रीय संगीत के माध्यम से भारतीय संस्कृति और हमारी शिक्षा व्यवस्था पर वक्तव्य दिया। उन्होंने भी बच्चों को शिक्षा के साथ संस्कारित करने पर बल दिया। श्री कार्यक्रम की अध्यक्षता आशा त्रिपाठी ने की। कार्यक्रम में मुख्य रूप से संस्था के अध्यक्ष शशांक दीक्षित, अनीता दीक्षित, संस्था सचिव बृजेश कुमार यादव, सदस्य आशू यादव, सदस्य शोभित शुक्ला, शिफा आमीन, रुचि, कीर्ति व सौरभ सहित अन्य लोग मौजूद रहे।