एंटी डोपिंग विषय पर पेफी ने आयोजित की अंतर विद्यालीय वार्षिक चित्रकला प्रतियोगिता

  |    August 21st, 2019   |   0

समर्विली स्कूल नोयडा की इशिता महाजन को मिला प्रथम पुरूस्कार

गाजियाबाद(न्यू4सिटि खेल डेस्क)- खेलों में डोपिंग के दुष्प्रभाव विषय पर फिजिकल एजुकेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया (PEFI) और एम.एस. डी. वर्ल्ड स्कूल द्वारा 7वीं वार्षिक अंतर विद्यालीय चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन एम.एस. डी. वर्ल्ड स्कूल कौशाम्बी में किया गया, जिसमे दिल्ली एन सी आर के करीब 29 विद्यालयों से 245 बच्चों ने भाग लिया।

प्रतियोगिता में बच्चों ने अपनी कल्पना को रंगों के द्वारा शीट पर उकेरा और खेलों में प्रतिबंधित दवाओं के सेवन के खिलाफ चल रही मुहीम में पेफी और नाडा का साथ दिया।

सीनियर केटेगरी में प्रथम स्थान समर्विली स्कूल नोयडा की इशिता महाजन, द्वितीय स्थान विद्या भारती स्कूल के दीक्षांत कुमार और तृतीय स्थान जामिया मिलिया इस्लामिया स्कूल की तबस्सुम परवीन को मिला।

जूनियर केटेगरी में प्रथम स्थान मदर ग्लोबल स्कूल की रिया शामी, द्वितीय स्थान सिल्वर लाइन प्रेस्टीज स्कूल की अग्रिम करास्वामी और तृतीय स्थान हिल्वूड अकैडमी की शातोह्रिदा को मिला।

सब जूनियर केटेगरी में प्रथम स्थान फैथ अकैडमी की ऋषिता डावा, द्वितीय स्थान ग्रेट कोलंबस स्कूल की पायल शर्मा और तृतीय स्थान एमएसडी वर्ल्ड स्कूल की इशिता को मिला.

परिवर्तन स्कूल वसंत कुंज के स्पेशल केटेगरी के बच्चो ने भी इस अवसर पर पेंटिंग बना कर SAY NO TO DRUGS का मेसेज देते हुए अपनी पेंटिंग से सबका दिल जीत लिया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अर्जुन एवं पदमश्री अवार्डी लिंबाराम ने बच्चो को पुरूस्कार देते हुए इस तरह के आयोजन की सराहना करते हुए अपने दिनों को याद किया और बताया की जब वो खेलते थे तब खेलों के प्रति इतनी जागरूकता नहीं थी, आज सरकार के द्वारा खेलो इंडिया जैसे कार्यक्रम चलाये जा रहे है जिससे की ग्रामीण अंचल से भी प्रतिभाएं आगे आ रही है। उन्होंने नाडा और पेफी के कार्यों की सराहना की और आशा जताई की इस तरह के आयोजन लगातार होते रहेंगे तो निश्चित ही एक दिन देश का नाम खेलों में भी रोशन होगा और खेल ड्रग्स मुक्त होंगे।

विशिस्ट अतिथि नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी (भारत सरकार) के प्रोजेक्ट डायरेक्टर डॉ. अंकुश गुप्ता ने नाडा के कार्यों को बताते हुए बच्चो को खेलों में डोपिंग ना करने की शपथ दिलाई

कार्यक्रम आयोजन सचिव डॉ. चेतन कुमार और मनोज कुमार ने बताया की नाडा और पेफी के द्वारा पूरे देश भर खेलों में प्रतिबंधित दवाओं के दुष्प्रभाव को रोकने के लिए जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे है, जिनमे विभिन्न स्कूल, महाविद्यालय और विश्वविद्यालयों में छात्रों को जागरूक किया जा रहा है. इसी कड़ी में पेफी के द्वारा आयोजित होने वाली वार्षिक चित्रकला प्रतियोगिता का विषय एंटी डोपिंग रखा गया जिससे की शुरूआती वर्षों में ही बच्चो को  डोपिंग के दुष्प्रभाव के बारे में जागरूक किया जा सकें।

विद्यालय की डायरेक्टर श्रीमती पूजा गुप्ता ने कहा की समय-समय पर ऐसी प्रतियोगिता का आयोजन किया जाना चाहिए और उन्होंने छात्रों की कला की प्रशंसा करते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की. विद्यालय के प्रधानाचार्य श्रीमती रूपा चंद्र ने भी प्रतियोगिता की सराहना की।

कार्यक्रम के निर्णायक मंडल में लक्ष्मण कुमार, नवल किशोर, बलवीर सिंह और शुमोदिप शामिल थे। इस अवसर पर दिल्ली बास्केटबाल संघ के उपाध्यक्ष शक्ति सिंह, पेफी के राष्ट्रीय सचिव डॉ. पीयूष जैन, अमित कुमार, राजन पाण्डेय, पवन त्यागी, जगमोहन, राहुल कुमार, अनिल कुमार, कुंदन, पुनीत सहित बड़ी मात्रा में शारीरिक शिक्षा और कला के छेत्र से जुड़े हुए लोग उपस्थित थे।