योग और आयुर्वेद को अपनाकर जीवन को स्वस्थ बनाएं : प्रो.कप्तान सिंह सोलंकी

  |    November 7th, 2017   |   0
चण्डीगढ़(संवाददाता)-हरियाणा के राज्यपाल प्रो० कप्तान सिंह सोलंकी ने लोगों का आह्वान किया है कि वे योग और आयुर्वेद को अपनाकर जीवन को स्वस्थ बनाएं। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में लाइलाज मानी जा रही बीमारियों का इलाज योग व आयुर्वेद द्वारा किया जा सकता है। 
राज्यपाल पी.जी.आई.एम.ई.आर.,चण्डीगढ़ में असंक्रामक रोगों पर आयोजित अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन के समापन समारोह में बोल रहे थे। इस तीन दिवसीय सम्मेलन का आयोजन वल्र्ड नॉनकम्युनिकेबल डिजीज फैडरेशन द्वारा किसा गया था। इसमें एक सौ देशों के लगभग एक हजार प्रतिनिधियों ने भाग लिया। समापन अवसर पर राज्यपाल व चिकित्सा क्षेत्र के विशेषज्ञों ने ‘चण्डीगढ़ घोषणा’ पत्र जारी किया। राज्यपाल ने इस सम्मेलन के दौरान श्रेष्ठ प्रविष्टियां प्रदान करने वाले प्रतिनिधियों को सम्मानित भी किया। 
प्रो० सोलंकी ने आगे कहा कि अच्छे स्वास्थ्य के बिना आदमी की सब उपलब्धियां बेकार हो जाती हैं क्योंकि अच्छे स्वास्थ्य वाला व्यक्ति ही सुख-सुविधाओं को आनन्द प्राप्त कर सकता है। इसलिए स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता फैलाने वाले लोग सच्चे मानव सेवक हैं। उन्होंने कहा कि अच्छे स्वास्थ्य के लिए योग व आयुर्वेद समस्त मानवजाति को भारत की अनुपम देन हैं क्योंकि इनका शरीर पर कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ता। इसीलिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पहल पर संयुक्त राष्ट्र संघ ने 21 जून को अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस घोषित किया है।
इससे पहले वल्र्ड र्साइंटिफिक कमेटी के संयोजक डॉ० धीरेन्द्र नारायण सिन्हा और पंजाब विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो० अरूण ग्रोवर सहित चिकित्सा जगत के महानुभावों-डॉ.थाक्सफन थमरांगसी, डॉ० जी० देवगण, डॉ० राजीव कुमार ने भी अपने विचार रखे। पी.जी.आई.एम.ई.आर., चण्डीगढ़ के निदेशक प्रो० जगत राम ने सबका स्वागत किया और वल्र्ड नॉनकम्युनिकेबल डिजीज फैडरेशन के अध्यक्ष डॉ० जे०एस० ठाकुर ने सबका धन्यवाद किया।