ईद-पे-शॉपिंग नही-लोगों की मदद करें तो बेहतर होगा : डॉ आमना

  |    May 21st, 2020   |   0

नई दिल्ली (संवाददाता)-कोरोना सर्वव्यापी महामारी से पूरा विश्व प्रभावित है जिसमे अभी तक एक ही कारगर उपाय है लॉकडाउन और सोशल डिस्टैंसिग। इस संदर्भ में आने वाले ईद के त्यौहार के बारे में बात करते हुए शिक्षाविद, लेखक, सामाजिक उद्यमी डॉ आमना ने कहा कि यह समय है सबसे बड़ी एकजुटता दिखाने का व निभाने का हर विवाद से परे होकर इस लड़ाई को तहेदिल से साथ दे।

अगर आप सच्चे मानव है तो कोरोना योद्घा की तरह सोशल डिस्टेंसिंग होकर सख्ती से पालन अवश्य करें और इस ईद पर खरीदारी न करें । घर पर रहे, जिम्मेदार नागरिक के रूप में लाॅकडाउन के नियम और अपने

कर्तव्यों का पालन करें, प्राथना करे कि जल्द हम सबको इस विपत्ति से बचने का साहस प्रदान करे और जल्द से जल्द यह वायरस खत्म हो जाए। डॉ आमना ने अपनी बात रखते हुए यह स्पष्ट किया कि बड़े दुःख का विषय है कि कोरोना के साथ एक बड़ा संकट हमारे ग़रीब असहाय मजदूरों की भूख, रोजगार, से – चलते-चलते हो रहा है।

इसीलिए हम सब के लिए यह अनिवार्य है कि हम अपने गरीब, मजदूर, के साथ एकजुटता दिखाएं, प्यार से दूसरों की मदद करने के लिए ईद की खरीदारी के पैसे का उपयोग करें, जैसे किसी ज़रूरतमंद परिवार को भोजन खिलाएं, किसी की स्कूल फीस का भुगतान करें, किसी को व्यवसाय शुरू करने में मदद करें, किसी के घर का किराया दें। ईश्वर के लिए सच्ची आस्था हमारे मानवता कि सेवा के भाव से उभरती है, हमारे कपड़ों से नहीं।