माहवारी के प्रति समाज में जागरूकता जरूरी सच्ची सहेली ने किया पीरियड फेस्टिवल व पैड यात्रा का आयोजन

  |    May 28th, 2018   |   0

पिरीयड पर चुप्पी तोड़ों इसमें शर्म नहीं गर्व  हो

नई दिल्ली (भारती शर्मा)- पीरियड-डेटस् या माहवारी लडकियों के शरीर में होने वाली प्राकृतिक प्रक्रिया है, यही से इनके जननी होने कि पहली पहचान है लेकिन समाज में इनको लेकर अभी भी बहुत से अंध विश्वास है कोई भी इस पर बात नही करना चाहता है।

लेकिन इस मुद्दे पर समाज को जागरूक करने के लिए ” सच्ची सहेली”  ने पिछले 4 सालो से गलत अवधारणों को दूर करने करने की अलख जगाई हुई है।  इसी कङी में रविवार को दिल्ली के राजीव चोक पर “सच्ची सहेली” ने महिला एवं बाल कल्याण विभाग दिल्ली सरकार के साथ मिलकर पीरियड फेस्टिवल व पैड यात्रा का आयोजन किया।

इस मौके पर दिल्ली के उप-मुख्य मंत्री मनीष सिसोदिया मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित हुए और  कहा कि इस जागरूकता कि शुरुआत अपने घरो से करनी होगी, घरो में बात करनी होगी और अंध विश्वास को दूर करना होगा। विशेष अतिथि रही महिला आयोग कि अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने में कहा कि रानी लक्ष्मी बाई से लेकर साइना नेहवाल तक कितनी नामी गिरामी हस्तियों ने पीरियड को अपने रस्ते कि अड़चन नही बनने दिया।

वहीं सच्ची सहेली कि संयोजक डॉ. सुरभि सिंह ने कहा कि यहाँ आने का व इस प्रोग्राम का मक़सद पिरीयड पर चुप्पी को तोड़ना है और बताना है की ये शर्म की नहीं गर्व का विषय हो,  बाल आयोग कि सदस्य रंजना प्रसाद, रूप सुदेश विमल भी उपस्थित थी। रंजना प्रसाद ने कहा कि सच्ची सहेली के इस आयोजन को एतिहासिक बताया व इस आयोजन कि भूरी-भूरी प्रशंसा कि।

इसके बाद सारे दर्शकों ने इक्कठे होकर पैड़ यात्रा निकाल कर  पीरियड्स के बारे में जागरूकता बढाई  और लोगों से अपील की कि अब वो  इस मुद्दे पर अपनी चुप्पी तोड़े।  कार्यअंक्तरम के अंत में सभी को पीरियड्स के बारे में जागरूकता बढ़ाने की शपथ दिलाई गई।