44वें मातृश्री मीडिया पुरस्कारों से नवाजे गए पत्रकार

  |    June 17th, 2019   |   0

राष्ट्र की दशा सुधारने के लिए मीडिया की भूमिका प्रारम्भ से चुनौती पूर्ण रही : दिनेश शर्मा

नई दिल्ली (संवाददाता)- लोकतंत्र के रक्षार्थ निर्भीकता से सेवारत पत्रकारों एवं कलाकारों को आज यहां 44वें मातृश्री मीडिया पुरस्कारों से नवाजा गया। चांदनी चैक स्थित अभिषेक सिनेप्लेक्स सिनेमाघर में आयोजित सादे समारोह में सर्वश्रेष्ठ घोषित अयुष्मान खुराना अभिनीत फिल्म बधाई हो को भी भारत माता की शील्ड भेंट की गई। फिल्म का प्रदर्शन भी हुआ। 

अवार्ड कमेटी के संयोजक एवं मातृस्वर के मुख्य सम्पादक दिनेश शर्मा ने पुरस्कारों से अलंकृत पत्रकारों की प्रशंसा करते हुये कहा कि राष्ट्र को सही दिशा देकर राष्ट्र की दशा को सुधारने के लिए मीडिया की भूमिका प्रारम्भ से चुनौती पूर्ण रही है। यह अवार्ड सबसे पहले अमर शहीद लाला जगतनारायण को दिल्ली में भारत माता की शीलड देकर अलंकृत किया गया था।

पंजाब केसरी दिल्ली के कार्यकारी अध्यक्ष स्वदेश भूषण जैन के सानिध्य और समारोह समिति के चैयरमेन अशोक अग्रवाल, हरीश चैपड़ा, अंकुश अग्रवाल, चेतन शर्मा, रमेश बजाज, विशाल राणा तथा कैलाश अग्रवाल आदि ने पत्रकारों को शील्ड एवं लेखनी से सम्मानित किया। इसके साथ ही देश के प्रिंट एवं टीवी मीडिया से संबंधित 29 पत्रकारों व एक समाज सेवी और एक फिल्म को भारत माता की शील्ड से अलंकृत किया गया।

जिन पत्रकारों को भारत माता की शील्ड से सम्मानित किया गया उनमें पीटीआई से वरिष्ठ पत्रकार सर्वोत्तम जी महाठा जयपुरियार, भाषा से वरिष्ठ पत्रकार नमिता सिंह, और यूएनआई से अग्रज प्रताप सिंह व यूनिवार्ता से जितेन्द्र कुमार के अतिरिक्त नव भारत टाइम्स से पूनम गौड़, सांध्य टाइम्स से रवि भूषण द्विवेदी तथा पंजाब केसरी से कुणाल कश्यप, टाइम्स आफ इंडिया के चीफ कार्टूनिस्ट संदीप अधवारियो का नाम प्रमुख हैं। समाज सेवा के लिए सेवारत उत्तरी दिल्ली नगर निगम के पूर्व महापौर श्री आदेश गुप्ता को सम्मानित किया गया। दैनिक हिन्दुस्तान से सज्जन चैधरी, पीटीआई से फोटो पत्रकार दुर्गा प्रसाद मिश्रा, एनएनआई एजेंसी से संवाददाता राजीव रंजन राय और कैमरामेन राहुल सिंह सहित दैनिक जागरण के वरिष्ठ पत्रकार संजीव गुप्ता और फोटोग्राफर पारस कुमार, अमर उजाला के सीनियर रिपोर्टर धीरज बैनिवाल, हरि भूमि से विनोद मणि गौतम, हमारा समाज (उर्दू) से मिन्हाज अहमद, इंडिया न्यूज से विडिओ जर्नलिस्ट दिलीप अवस्थी, टोटल टीवी से सूरवीर सिंह, राजस्थान पत्रिका से फोटो एडीटर शैलेन्द्र पाण्डेय, एमएच-1 टीवी से प्रेम सिंह, आज तक टीवी से रंजीत कुमार सिंह, धर्म टीवी वेबसाइट से अरविन्द कुमार शर्मा, इंडिया न्यूज के वरिष्ठ पत्रकार विष्णु शर्मा के अतिरिक्त बेस्ट फिल्म पीआरओ के लिए शैलेष गिरी, जे एडं के एंड गुलशतान न्यूज टीवी के विजय कुमार तोगा, सांध्य महालक्ष्मी भाग्योदय से फिल्म समीक्षक विजय कुमार, शगुफ्ता टीवी टाइम्स हिन्दी वार्ता से प्रवीण अर्शी, साहित्यकार एवं वरिष्ठ लेखक एस.एस डोगरा एवं टोटल खबरें से राजेश खन्ना प्रमुख हैं।

इस अवार्ड की शुरूआत आपातकाल के दौरान पत्रकारों से हुये दुव्र्यवहार और उनकी निर्भीकता को देखकर की गई थी। शहीद पत्रकार लाला जगतनारायण ने दिल्ली आकर इस अवार्ड का शुभारम्भ कराया था। पूर्व राजनीतिज्ञ प्रो. विजय कुमार मल्होत्रा ने भारत माता की शील्ड से अलंकृत किया था।  हमारा नारा है … लेखनी जो सत्ता की दासी नहीं रही, सरकारी इनामों की भी प्यासी नहीं रही, यह स्वाभिमान अपना जगाती ही रहेगी और नकाब गद्दारों के उठाती रहेगी।