महाराष्ट्र टाइगर ने जीता प्रथम इंडियन व्हीलचेयर क्रिकेट प्रीमियर लीग-2018 का खिताब

  |    June 26th, 2018   |   0

व्हीलचेयर क्रिकेट खिलाङियों का हौसला बढ़ाने पहुंचे डीसीपी शिबेश सिंह, अर्जुन अवार्डी दीपा मलिक, लोक कलाकार सपना चौधरी

नई दिल्ली(आर.के.शर्मा)- द्वारका सब-सिटी में 21 से 24 जून तक आईपीएल की तर्ज पर खेले गए प्रथम इंडियन व्हीलचेयर प्रीमियर लीग (आईडब्ल्यूपीएल) टूर्नामेंट के खिताब पर महाराष्ट्र टाइगर टीम ने कबजा किया, गुजरात फाइटर टीम उप-विजेता बनी। समापन समारोह के दौरान द्वारका क्षेत्र के डीसीपी शिबेश सिंह द्वारा विजेता टीमों को ट्रॉफी प्रदान कर सम्मानित किया। इसी कड़ी में दिल्ली सुपरस्टार टीम को लोक कलाकार सपना चौधरी द्वारा फेयरप्ले ट्रॉफी देकर सम्मानित किया गया।

इस मौके पर खिलाङियों का हौसला बढ़ाने पहुंची अर्जुन अवार्डी पैरा-ऐथलीट दीपा मलिक ने मैन ऑफ-दा-मैच रहे खिलाङी को एक आधुनिक व्हीलचेयर पुरस्कार स्वरूप भेंट की गई। पूर्व पंजाब पुलिस अधीक्षक व हॉकी खिलाङी सुरेश शर्मा, आयोजक समिति प्रमुख मुकेश सिंह, क्रिकेट अंडर 19 टीम के कप्तान अनुज रावत के अलावा अन्य कई गणमान्य लोग भी समापन समारोह में प्रमुख रूप से उपस्थित रहे। 24 जून को सम्पन्न हुए इस चार-दिवसीय पैरा-स्पोर्ट्स टूर्नामेंट में विभिन्न राज्यों से आई कुल छः टीमों ने भाग लिया। सभी लीग मैच द्वारका सेक्टर-12 के बाल भवन इंटरनेशनल स्कूल में खेले गए। टूर्नामेंट में शामिल सभी छः टीमों के बीच शानदार लीग मुकाबले खेले गए ये सभी मुकाबले 15 ओवर के रहे। टूर्नामेंट में शामिल टीम के नाम इस प्रकार हैं – गुजरात फाइटर्स, दिल्ली सुपरस्टार, महाराष्ट्र टाइगर्स, उत्तर प्रदेश हीरोज, उत्तराखंड वारियर्स और चेन्नई सुपर स्ट्रॉन्ग।

लीग के चौथे व अंतिम दिन फाइनल मुकाबले के लिए महाराष्ट्र टाइगर एवं गुजरात फाइटर टीम मैदान पर उतरी, इनके बीच शानदार मुकाबला हुआ। जिसमे गुजरात फाइटर ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 15 ओवरों में 7 विकेट खो कर 102 बनाए, उसके जवाब में महाराष्ट्र टाइगर ने बल्लेबाजी करते हुए बिना कोई विकेट खोए 105 रन बना कर लिएI इस तरह महाराष्ट्र टाइगर ने 10 विकेटों से  फाइनल जीतकर जीत का सेहरा अपने नाम कर लिया।

मैन ऑफ़ द मैच एवं सीरीज महाराष्ट्र टाइगर के परशुराम को मिला। जिसने 64 रन की एक लम्बी पारी खेल कर अपनी टीम को शानदार जीत दिलाई।

मैन ऑफ़ द बैट्समैन दिल्ली सुपर स्टार के सौरभ मालिक को मिला, इसने कुल 220 रन बनाए।

लीग के संयोजक मुकेश सिन्हा ने कहा कि, ‘यह टूर्नामेंट पैरा-एथलीटों को अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए एक मंच प्रदान करेगा। हमें उम्मीद है कि जनता का सहयोग मिलेगा तो यह शीघ्र ही वार्षिक कार्यक्रम में बदल जाएगा। इस लीग को सफल बनाने में दिल्ली पुलिस के साथ-साथ हमारे प्रायोजकों का भरपूर सहयोग मिला।

मुकेश सिन्हा ने बताया कि 20 जून को हुए उद्घाटन कार्यक्रम से पूर्व किए गए रोड शो को देखने के बाद क्षेत्र के लोगों में एस विशेष टूर्नामेंट को देखने के लिए जिज्ञासा बनी और सभी दिन खिलाङियों का मनोबल बढाने के लिए काफी संख्या में दर्शकों की भीङ मैदान पर आती रही।