एयर राइफल में धनुश ने जीता स्वर्ण,  विश्व कप पदक विजेता अर्जुन बबुता को दी मात

  |    January 11th, 2019   |   0
दूसरे दिन पदक तालिका में  महारष्ट्र  32 गोल्ड पदक के साथ प्रथम स्थान पर , दिल्ली 24 पदक के साथ दूसरे स्थान पर, 18 गोल्ड पदक के साथ हरियाणा तीसरे स्थान पर रहा 

पुणे (News4city Sports Desk)- तेलंगाना के धनुष श्रीकांत ने दो बार के जूनियर विश्व कप कांस्य पदक विजेता पंजाब के अर्जुन बबुता को मात देते हुए खेलो इंडिया यूथ गेम्स (केआईवाईजी)-2019 में शुक्रवार को पुरुषों के अंडर-21 वर्ग की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया। 16 साल के धनुष ने क्वालिफिकेशन में 629.7 के सर्वश्रेष्ठ स्कोर के साथ पहला स्थान हासिल किया। उन्होंने फिर फाइनल में 248.9 के स्कोर के साथ सोने का तमगा अपने नाम कर लिया।

दो साल पहले ही निशानेबाजी में शुरू करने वाले धनुष ने अपनी स्वर्णिम सफलता पर कहा, ‘‘फाइनल में मैं कसी और निशानेबाज से प्रभावित नहीं था। मैं कम से कम 10.7 का स्कोर करना चाहता था। मुझे खुशी है कि मेरे कोच (नेहा चौहान) ने मुझे सही फॉलो थ्रू की अहमियत बताई जिसके चलते क्वालीफिकेशन के बाद फाइनल में भी मैं अपना सर्वश्रेष्ठ स्कोर हासिल करने में सक्षम हो पाया।’’

अर्जुन ने क्वालीफिकेसन में तीसरा स्थान हासिल किया था और वह फाइनल जीतने की रेस में थे। गोवा के योगेश ने 1.3 अंतर से रजत पदक अपने नाम किया। धनुष ने पिछले दिल्ली में हुए दूसरे चयन ट्रायल्स में भी शानदार प्रदर्शन किया था। उन्होंने क्वालीफिकेशन में 627.1 का स्कोर किया था। वह पुरुषों के फाइनल में चौथे स्थान पर थे जहां उन्होंने 20 शॉट के साथ 208.4 का स्कोर किया था। वह जूनियर फाइनल में 22 शॉट के साथ 228.0 के स्कोर के साथ तीसरे और यूथ फाइनल में 186.2 के स्कोर के साथ पांचवें स्थान पर रहे थे।

इसके अलावा तिरुवनंतपुरम में हुई राष्टÑीय चैम्पियनशिप में 621 और दिल्ली में पिछले महीने में हुई पहली चयन ट्रायल्स में उन्होंने 620 का स्कोर किया था।  पुरुषों के अंडर-21 वर्ग की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में ही गोवा के यश योगेश ने 247.6 के स्कोर के साथ रजत पदक अपने नाम किया।

पंजाब के अर्जुन क्वालिफिकेशन और फाइनल में तीसरे स्थान पर रहे और उन्हें कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा। उन्होंने फाइनल में 225.6 का स्कोर किया।

2016 में और पिछले साल सिडनी में हुई जूनियर विश्व कप में कांस्य पदक जीतने वाले अर्जुन यहां क्वालीफिकेशन में तीसरे स्थान पर रहे। उन्होंने फाइनल में भी तीसरे स्थान पर रहकर कांस्य पदक अपने नाम किया।

अंडर-17 वर्ग में फाइनल में मध्य प्रदेश के अविनाश यादव ने 250.9 के स्कोर के साथ स्वर्ण पदक अपने नाम किया। राजस्थान के दिव्यांश सिंह (250.7) को रजत और राजस्थान के ही यशवर्धन (228.1) को कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा।

पदक तालिका में  महारष्ट्र  32 गोल्ड पदक के साथ प्रथम स्थान पर , दिल्ली 24 पदक के साथ दूसरे स्थान पर है वहीं हरियाणा 18 गोल्ड पदक जीत कर तीसरे स्थान पर रहा वहीं मणिपुर अभी सबसे कम 4 गोल्ड पदक जीतने में ही सफल हो पाया है।