आयोडीन की कमी विकार विषय पर AKGsOVIHAMS मेडिकल सेंटर द्वारा संगोष्ठी आयोजित

  |    October 26th, 2018   |   0

नई दिल्ली (संवाददाता)- आईआईएमसी के साथ मिलकर एकेजीओविम्स द्वारा आईओडीन की कमी पर विकार – संगोष्ठी और होम्योपैथी और मनोविज्ञान पर शिविर के साथ के नि: शुल्क टीएसएच पैथोलॉजिकल टेस्ट आईआईएमसी के सभागार में आयोजित किया गया। डीजी आईआईएमसी के.जी सुरेश और संस्थापक निदेशक एकेजीओविम्स प्रोफेसर डॉ एके गुप्ता ने कहा कि भारत सरकार देश में सूक्ष्म पोषक तत्वों की आवश्यकता पर एक कार्यक्रम चला रही है।21 अक्टूबर को विश्व आयोडीन कमी, निवारण दिवस के रूप में मनाया जाता है, इस मौके पर AKGsOVIHAMS मेडिकल सेंटर पितमपुरा ने अपनी पहली वर्षगांठ भी मनाई।

डॉ. ए.के गुप्ता, एमडी (होम), संस्थापक निदेशक, एकेजीओवीएचएएमएस (ओम विद्या इंस्टीट्यूट ऑफ होम्योपैथी एंड अलाइड मेडिकल साइंसेज ने कहा कि आयोडीन मस्तिष्क के सामान्य कामकाज और एंड्रॉइडिन फ़ंक्शन को विशेष रूप से थायराइड ग्रंथियों के लिए आवश्यक एक सूक्ष्म पोषक तत्व है।

आयोडीन की कमी गर्भपात का कारण; अभी भी जन्म, जन्म दोष, अधूरा भ्रूण मस्तिष्क विकास या क्षति; मानसिक या शारीरिक मंद विकास ; गण्डमाला; कम आईक्यू स्तर और सीखने की अक्षमता आदि बन सकती है।भारत सरकार इस के लिए आयोडीन युक्त नमक की बिक्री की सिफारिश की। डॉ ए के गुप्ता ने कहा कि शोध किया गया है जो कहता है कि होम्योपैथी थायराइड रोगियों के इलाज में प्रभावी रही है।

डॉ। कार्तिक गुप्ता, एम.फिल(नैदानिक मनोविज्ञान) क्लीनिकल साइकोलॉजिस्ट ने चिड़चिड़ाहट, मूड स्विंग्स, भूलभुलैया, मानसिक थकान और बच्चों में सीखने की कठिनाइयों जैसे मरीजों द्वारा अनुभवी मानसिक और मनोवैज्ञानिक मुद्दों के साथ सभा को अवगत कराया, जिसे उचित निदान तरीके से और मनोचिकित्सा  और होम्योपैथिक और पारंपरिक उपचार दोनों के साथ मदद मिल सकती है ।

डॉ.निशित गुप्ता, एमडी (पथ) ने कहा कि ऐसे मरीजों में आवश्यक पैथोलॉजिकल परीक्षणों को समझने की आवश्यकता है  और चेतावनी दी कई रोगियों को बिना समझ के अनावश्यक टेस्ट को मनमाने ढंग से  जांच नहीं किया जाना चाहिए।वास्तव में कौन से विशिष्ट लैब जांच परीक्षण की आवश्यकता होती है यह विशेषज्ञ से पूछें।डॉ. मनीप्ता गुप्ता ने रोगियों द्वारा उपयोग किए जाने वाले एक्यूप्रेशर पॉइंट का प्रदर्शन किया।

डॉ संकेता गुप्ता, एमडी (होम) ने AKGsOVIHAMS, इसकी अवधारणा और 19 वर्ष की यात्रा के बारे में बताया। AKGsOVIHAMS (ओम विद्या इंस्टीट्यूट ऑफ होम्योपैथी एंड अलाइड मेडिकल साइंसेज) रोगियों के लाभ के लिए उपचार में एकीकरण की अवधारणा लाने में अग्रणी है। ऐसा कहा जाता था कि इस ओवीएचएएमएस के लिए लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में मान्यता मिली और उन्हें कई पुरस्कार मिले। सामान्य तथाकथित बीमार बीमारियों से भी कई मरीजों का इलाज और इलाज किया गया है। डॉ संकेत ने कहा कि संस्थापक निदेशक AKGsOVIHAMS के मार्गदर्शन में क्लिनिकल रिसर्च के क्षेत्र में कई लॉरल्स और ऑनलाइन परामर्श सुविधा के साथ भी ग्लोब के आसपास के मरीजों का इलाज किया गया है। यह सूचित किया जाता है कि हम डॉक्टरों के लिए नैदानिक प्रशिक्षण शुरू करना चाहते हैं और छात्रों, निगमों और समाज के लिए लाइफ स्टाइल कार्यशालाएं शुरू कर रहे हैं। ओम-विद्या चैरिटेबल क्लिनिक में गरीब रोगियों का भी इलाज किया जाता है। जनता के बीच जागरूकता पैदा करने के अनुसरण में AKGsOVIHAMS पिछले 5 वर्षों से भी सफलतापूर्वक ई-न्यूज़लेटर प्रकाशित कर रहा है।

डीजी आईआईएमसी के केजी सुरेश ने मानवता पीड़ित की सेवा में एकेजीओवियाम्स के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि वह 1999 में अपनी स्थापना के बाद से पूरी यात्रा के लिए गवाह रहे थे। उन्होंने स्पष्ट रूप से AKGsOVIHAMS की युवा टीम के योगदान की सराहना की। यह कहा गया है कि जनता के बीच जागरूकता पैदा करने के लिए इस परिमाण के सेमिनार को व्यवस्थित करने का यह बहुत अच्छा प्रयास है। आईआईएमसी के छात्रों को चिकित्सा और स्वास्थ्य के लिए योग्यता पैदा करने के लिए संबोधित किया गया था क्योंकि इससे भविष्य के करियर में भी उनकी मदद मिलेगी।

बड़ी संख्या में लोगों ने होम्योपैथी और मनोविज्ञान में नि: शुल्क परामर्श सेवाएं ली। कई रोगियों के लिए नि: शुल्क पैथोलॉजिकल टेस्ट भी किए गए थे। डॉ ए के गुप्ता ने घोषणा की कि रोगियों को राजौरी गार्डन, सत्य निकेतन और पितम पुरा में एकेजी ओविएम्स के 3 केंद्रों में से आगे पूरा उपचार भी ले सकते हैं।

प्रोफेसर डॉ ए.के गुप्ता – सीनियर होम्योपैथिक सलाहकार डॉ संकेता गुप्ता – होम्योपैथिक कंसल्टेंट ,डॉ प्रवीण कुमार – होम्योपैथिक डॉक्टर ,कार्तिक गुप्ता – नैदानिक मनोवैज्ञानिक ,डॉ निशित गुप्ता – रोगविज्ञानी,मनीष गुप्ता – विशेषज्ञ एक्यूप्रेशर ,सूरज – लैब तकनीशियन ने शिविर में अपनी सेवाएं दी।

इसके अलावा 22 से 27 अक्टूबर तक पितमपुर शाखा में होम्योपैथिक और मनोवैज्ञानिक सेवाओं के लिए सभी मरीजों को 50% छूट दी जाएगी। AKGsOVIHAMS मेडिकल सेंटर पितमपुरा, डॉ. ए.के. गुप्ता, संस्थापक निदेशक एकेजीओवीएचएएमएस (ओम विद्या इंस्टीट्यूट ऑफ होम्योपैथी एंड अलाइड मेडिकल साइंसेज) ने घोषणा की।