हिंदी विश्‍वविद्यालय की अनूठी पहल : बापू के 150वें जन्‍म दिवस पर आरोग्‍य दीपोत्‍सव का भव्‍य आयोजन

  |    October 4th, 2019   |   0

वर्धा शहर के 23 प्रमुख चौराहों पर मिट्टी के दीप प्रज्‍ज्‍वलित कर गांधी जी को किया याद

वर्धा(संवाददाता)- महात्‍मा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय हिंदी विश्‍वविद्यालय वर्धा ने राष्‍ट्रपिता महात्‍मा गांधी की 150वीं जयंती पर बापू को बेहद अनूठे तरीके से स्‍मरण किया। विश्‍वविद्यालय के कुलपति प्रो. रजनीश कुमार शुक्‍ल ने इसे आरोग्‍य दीपोत्‍सव के रूप में आयोजित करने की रचनात्‍मक पहल की। उन्‍होंने इस अवसर पर बापू के जन्‍म दिवस को पर्यावरण संवर्धन और आरोग्‍य उत्‍सव के रूप में मनाये जाने का लक्ष्‍य रखा था।

इस लक्ष्‍य की प्राप्ति के लिए उन्‍होंने यह शिव संकल्‍प लिया था कि समूचे विश्‍वविद्यालय परिसर के साथ-साथ वर्धा नगर के प्रमुख स्‍थलों, चौराहों को विभिन्‍न संगठनों के साथ मिलकर मिट्टी के दियों से जगमग किया जाएगा जिससे एक साथ पर्यावरण संरक्षण एवं स्‍वच्‍छता का संदेश घर-घर पहुंचाया जा सकें और सभी तरह के अंधेरे से मिलकर लड़ा जा सके। उनके इस आहवान पर  शहर के विभिन्‍न सामाजिक, शैक्षणिक एवं सांस्‍कृतिक संगठनों के पदाधिकारी एवं प्रतिनिधियों ने बढ़-चढ़ कर हिस्‍सा लिया और विश्‍वविद्यालय परिसर सहित शहर के विभिन्‍न इलाकें एक साथ रौशन हो गये।

विश्‍वविद्यालय के सभी छात्रावासों,भवनों और आवासीय परिसर में आरोग्‍य दीपोत्‍सव का आयोजन किया गया। इस आयोजन की सबसे प्रमुख बात यह रही कि इसमें विश्‍वविद्यालय के समस्‍त शिक्षक, कर्मचारी, विद्यार्थी अत्‍यंत अनुशासित तरीके से सम्मिलित हुए और इस आयोजन ने कुटीर उद्योग (दीप निर्माण) के संरक्षण का भी एक बड़ संदेश दिया। इस प्रकार विश्‍वविद्यालय ने बापू की जयंती के अवसर  को बहुत ही नए तरीके से मनाकर उनके प्रति अपनी भावांजलि समर्पित की।

कुलपति प्रो. रजनीश कुमार शुक्‍ल के निर्देशन में सभी चौराहों पर दीप जलाने की योजना बनायी गयी और हर चौराहे का दायित्‍व शाला, महाविद्यालय, सामाजिक संगठन और विविध दुर्गा उत्‍सव समितियों को सौंपा गया। विश्‍वविद्यालय की ओर से संस्‍कृति विद्यापीठ के अधिष्‍ठाता प्रो. नृपेंद्र प्रसाद मोदी, अनुवाद अध्‍ययन विभाग के प्रभारी, डॉ. अनवर अहमद सिद्दीकी, डॉ. अनिल कुमार दुबे, राष्‍ट्रीय सेवा योजना के संयोजक राजेश लेहकपुरे, जनसंपर्क अधिकारी बी. एस. मिरगे और विद्यार्थी प्रतिनिधि राम सुंदर शर्मा सहित छात्रावासों के प्रभारियों के समूह ने प्रत्‍येक संगठन के लिए मिट्टी के दीप, तेल, बाती, बैनर आदि सामग्री का सुनियोजित तरीके से वितरण सुनिश्चित कराया।

वर्धा नगर में दीपोत्‍सव के 23 प्रमुख चौराहों की पहचान की गयी थी जिसमें कार्ला चौक, छत्रपति शिवाजी महाराज चौक, आर्वी नाका, पावडे चौक, लालबहादुर शास्‍त्री चौक, बजाज चौक, आरती चौक, न्‍यू इंग्लिश स्‍कूल, ठाकरे मार्केट, धुनिवाले चौक, महात्‍मा गांधी चौक, रानी झांसी चौक, डॉ. बाबासाहब अंबेडकर चौक, हुतात्‍मा स्‍मारक, सेवाग्राम रोड, राजकला सिनेमा थिएटर चौक, साई मंदिर, सानेवाडी, राष्‍ट्रभाषा प्रचार समिति, मगन संग्रहालय समिति, सोशलिस्‍ट चौक, पंजाबराव देशमुख कॉलनी,जिला सामान्‍य अस्‍पताल, बढे चौक,इंगोले चौक, निर्मल बेकरी चौक आदि स्‍थानों पर दीप प्रज्‍ज्‍वलित किए गये। इस उद्यम में जनहित मंच, ग्राम सेवा मंडल, मॉं दुर्गा उत्‍सव समिति, पब्लिक रिलेशन्‍स सोसाइटी ऑफ इंडिया, वर्धा चैप्‍टर,वैद्यकीय जनजागृति मंच, यशवंतराव दाते स्‍मृति संस्‍था,केसरीमल कन्‍या विद्यालय, विवेकानंद केंद्र, प्रियदर्शिनी महिला महाविद्यालय,युवा सोशल फोरम, रत्‍नीबाई हायस्‍कूल, यशवंत महाविद्यालय, जीएस कॉमर्स कॉलेज, लॉयन्‍स क्‍लब वर्धा, हेल्पिंग हार्ट्स चैरिटेबल ट्रस्‍ट, निसर्ग सेवा समिति, सुशील हिंमतसिंगका विद्यालय, बजरंग दल, विश्‍व हिंदू परिषद, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, जिला सामान्‍य रुग्‍णालय, शाइनिंग स्‍टार कंसेप्‍ट स्‍कूल, लॉसन्‍स हेरिटेज, लक्ष्‍मीनारायण मंदिर ट्रस्‍ट, रोटरी क्‍लब, कामगार कृति कल्‍याण समिति, प्रजापिता ब्रम्‍हकुमारी ईश्‍वरीय विश्‍वविद्यालय आदि संस्‍थाओं ने बढ़-चढ़ कर शामिल होकर इसे सफल बनाया। दीपोत्‍सव के इस कार्यक्रम को सफल बनाने में सर्वश्री प्रदीप दाते, श्री गुणवंत डकरे, श्री सुनील खासरे, श्री सुभाष पाटनकर, कौशल मिश्र, डॉ. आनंद कुमार गाढवकर, डॉ. सचिन पावडे, महंत मुकेशनाथ, अनूप जैसवाल, अनिल नरेडी, प्रा.  जयश्री कोटगिरवार, डॉ. शेषराव बावनकर, श्री संजीव लाभे, प्रो. अतुल शेंडे, प्राचार्य रंभा सोनाये, प्रा. धनंजय सोनटक्‍के, माधुरी दीदी, प्रो. अमोल घुमडे, डॉ. विलास देशमुख, सुधीर पांगुल, श्री अभिजित श्रावणे, श्रीमती श्रावणे, श्री मुरलीधर बेलखोडे, प्रा. अंजलि कांबले,  अटल पांडे, डॉ. विभा गुप्‍ता, डॉ. हेमचंद्र वैद्य,  नरेंद्र गुजर, संजय बडगिलवार, श्री सतीश बावसे, डॉ. अनुपम हिवलेकर, समीर शेंडे, अरूण लेले,डॉ.राजेश आसमवार, चिन्‍मय देशपांडे, अमोल घुमडे, प्रफुल्‍ल दाते, पंकज शर्मा, राजकुमार जाजू, सचिन घोडे, सोहम पंडया,अंबिका प्रसाद तिवारी आदि ने अथक प्रयास किए।

कुलपति प्रो. रजनीश कुमार शुक्‍ल ने शहर के प्रमुख चौराहों पर उपस्थित होकर दीपोत्‍सव में शामिल लोगों के प्रति आभार जताया। विश्‍वविद्यालय में दीपोत्‍सव का प्रारंभ गांधी हिल्‍स से किया गया जिसमें कुलपति प्रो. रजनीश कुमार शुक्‍ल और श्रीमती कुसुम शुक्‍ल ने गांधी जी की प्रतिमा के सम्‍मुख दीप प्रज्‍ज्‍वलित कर इसका विधिवत शुभारंभ किया। वर्धा के जिलाधिकारी विवेक भीमनवार ने डॉ. बाबासाहब अंबेडकर चौक में दीप प्रज्‍ज्‍वलित कर दीपोत्‍सव का शुभारंभ किया। दिये की पंक्ति लगाकर स्‍वच्‍छ भारत,स्‍वच्‍छ भारत का संदेश दिया गया था। वर्धावासियों के लिए यह एक अनूठा अनुभव रहा।