कबाड़ से बनी मॉडल प्रदर्शनी को देखने पहुंचे सहायक पुलिस आयुक्त दिनेश कुमार

  |    June 3rd, 2019   |   0

सड़कों पर काम करने वाले बादशाहपुर के 160 बच्चों ने कबाड़ से मॉडल बनाकर दिया समाज में महत्वपूर्ण संदेश

नई दिल्ली (संवाददाता)- सामाजिक संस्था चाइल्डहुड एन्हास्मेंटथ्रू ट्रेनिंग एंड एक्शन (चेतना) एवं सहयोगी कॉर्पोरेट डिवाइस बुक ऑनलाइन सर्विस प्राइवेटलिमिटेड, एवं एमथ्रीएम फाउंडेशन के और से बादशाह पुर झुग्गी बस्ती एवं जलवायु टावर झुग्गी बस्ती एवं गवर्नमेंट बॉयज सीनियर सेकेंडरी स्कूल  बादशाहपुर के 160 बच्चों ने कबाड़ से मोडल  बनाकर दिया समाज में महत्वपूर्ण संदेश,  मुख्य अतिथि सहायक पुलिस आयुक्त दिनेश कुमार एवं चेतना संस्था के निदेशक संजय गुप्ता एवं प्रधानाचार्य अनुराधा शर्मा एवं चेतना निदेशक संजय गुप्ता सहायक पुलिस आयुक्त एसीपी  दिनेश कुमार ने रिबन काट कर कार्यक्रम की शरूआत किया। इसी क्रम में 12 वर्षीय प्रियंका ने एसीपी दिनेश कुमार को फूलोँ का गुलदस्ता देकर स्वागत किया 14 वर्ष असलम ने चेतना निदेशक संजय गुप्ता जी को फूलोँ का गुलदस्ता देकर स्वागत किया 13 वर्षीय मुस्कान ने प्रधानाचार्य अनुराधा शर्मा को फूलोँ का गुलदस्ता देकर स्वागत किया।

प्रोजेक्ट के सहायक समन्वयक विजय कुमार ने बताया चेतना संस्था पिछले ढेड वर्ष से गुरुग्राम में कार्य कर रही हैं और इन सभी 120 बच्चों को सरकारी स्कूल से जोड़ा गया और यह सभी बच्चें अलग अलग गतिविधियों में इसी तरह भाग लेते रहते हैं और आज 160 बच्चों ने कबाड़ से मोडल बनाकर 20 अलग प्रोजेक्ट तैयार किया हैं।

चेतना संस्था के निदेशक संजय गुप्ता जी ने समर कैंप के बारे में आए मुख्य अतिथि को अवगत कराया और इन बच्चो की लगातार 5 दिनों की मेहनत के बारे में जानकारी दी। मुख्य अतिथि एसीपी शोना दिनेश कुमार ने सभी स्टॉल की निरीक्षण किया और सभी 20 ग्रुप के लीडर से उनके द्वारा बनाएं गए प्रोजेक्ट कबाड़ से मोडल के बारे में जानकारी ली और सभी बच्चों को मन लगाकर पढाई करने के लिए प्रोत्साहित किए और अपने कबाड़ से बनाए प्रोजेक्ट में सभी बच्चों को पुरस्कार के रूप में स्कूल बैग और पानी की बोटेल दिए और चेतना संस्था को यह पहल को आगे बढाने और अधिक बच्चों के जीवन में परिवर्तन लाने के लिए में बधाई देता हूँ और इन बच्चों कि उज्जवल भविष्य का कामना करता हूँ। और सभी बच्चों कों उन्होंने पढाई करने की सलाह दी और सभी को अपने इस उम्र में पढाई के महत्व के बारे समझाया साथ ही अपने हाथों से बच्चों कों स्कूल बैग और पानी की बोटेल दिए।

अक्सर हमें समाज में कही ना कही कूड़ा कचरा देखने को मिलता हैं और इस के आस पास आप को सड़क एवं कामकाजी बच्चें भी इस में काम करते दिखेंगे, यहीं वजह हैं कि आज गुरुग्राम के 160 बच्चों ने एमथ्रीएम फाउंडेशन के पहल पर समर कैंप फॉर अंडर प्रिविलेगेड चिल्ड्रन के अंतर्गत बच्चों ने अपने आस पास के जगहों से कबाड़ एकत्रित किया और 27 मई से 31 मई ’2019 के बीच सभी बच्चें इस समर कैम्प अपने ग्रुप के साथ मस्ती तो कर रहे हैं और इतिहास रचाने के और कदम बढ़ा रहे थे।

13 वर्षीय काकुली ने बताया पहले 27 मई को हमारें सेंटर में 30 बच्चें आए और विजय सर ने सभी को खेल के मध्यम से 5 ग्रुप बनाए और हम अपने ग्रुप के सभी बच्चें मिलकर अपने प्रोजेक्ट किस विषय पर बानाएंगे इस पर चर्चा किए और फिर अपने आस पास से कबाड़ इकट्ठा कर के अपने प्रोजेक्ट में पिछले 4 दिनों से रोंज काम कर रहे हैं, क्योंकि हम सभी ग्रुप को 31 मई 2019 को गवर्नमेंट बॉयज सीनियर सेकेंडरी स्कूल बादशाहपुर प्रदर्शनी था।

कई बार हम सोचते थे कि हमें भी कोई प्रोजेक्ट बनाने का मोका मिले लेकिन नहीं मिल पता था आह हम सभी बच्चे मिल कर अपने आस पास के समस्या और उसका निवारण कबाड़ से बना कर समाज को संदेश देना चाहते हैं। 14 वर्षीय मामपि ने बताया हम सभी बच्चों को मजा आ रहा हैं हम सभी अपने ग्रुप में एक साथ कार्य कर रहे हैं और अपने विचार एवं सभी के साथ मिलकर साझा कर रहे हैं। 12 वर्षीय मरीना ने बताया मै अपने जीवन में पहली बार समर कैम्प भाग लिया हैं और मै अपने ग्रुप का लीडर भी बनी हूँ, हम सभी बच्चें मिलकर कबाड़ से जुगाड़ बना रहें है। 13 वर्षीय जुबेदा ने बताया हमारे ग्रुप के सभी सदस्य गुडगाँव कैसा दिखता हैं इस पर काम कर रहे हैं और गुडगाँव मॉडल बना रहे हैं हमें बहुत मजा आरहा हैं । हम अलग अलग कलर से इस प्रोजेक्ट को पेंट कर रहे हैं। 14 वर्ष इस्राफील ने बताया हमारे ग्रुप के सभी सदस्य ने एक साफ सुथरा घर केसा होना चाहिए इस पर काम कर रहे हैं सभी सदस्य मिल कर कबाड़ से इस प्रोजेक्ट को बना रहे हैं 27 तारीख से और इसे 31 मई  को फ़ाइनल  प्रदर्शनी में अपने ग्रुप के सभी सदस्यों के साथ हम फर्स्ट प्राइज़ जीतेगे हमें पूरा विश्वास हैं । 14 वर्ष असलम ने बताया हम सभी टीवी में देखते थे किस चीज का प्रोजेक्ट बनता हैं लेकिन आज हम सभी मिल कर कबाड़ से प्रोजेक्ट बना रहे हैं और हम सभी बहुत खुश हैं और उत्साहित भी है।

यह सभी बच्चे एक वर्ष पूर्व किसी ना किसी कार्य में लिप्त थे और कभी स्कूल नहीं गए चेतना संस्था के सहयोग से सभी बच्चों को बादशाह पुर एवं जलवायु टावर के प्राथमिक विद्यालय एवं सीनियर सेकेंडरी स्कूल में पहली से सप्तमी क्लास में दाखिला कराया गया और सभी बच्चें अच्छे नंबर एवं क्लास में पहला स्थान व तृत्य स्थान प्राप्त कियें हैं।

चेतना संस्थान के निदेशक संजय गुप्ता ने कहा कबाड़ से जुगाड़ अनोखा पहल के साथ एक महत्पूर्ण सीख भी हैं हम सब के लिए क्योंकि हमें सड़क एवं कामकाजी बच्चों को मोका देना चाहिए, इनको सशक्तिकरण करने के लिए एमथ्रीएम फाउंडेशन को धन्यवाद करता हूँ की वह आगे आकर सड़क एवं कामकाजी बच्चों के बारे में चेतना संस्था के साथ मिल कर पहल किया।

कॉर्पोरेट डिवाइस बुक ऑनलाइन सर्विस प्राइवेट लिमिटेड के और से सीईओ अमित डे ने बताया कि यह पहल हम चेतना संस्था के साथ गुरुग्राम के दो कची बस्ती में कार्य कर रहे हैं इन स्ट्रीट चिल्ड्रेन के साथ और लगातार इन बच्चों में परिवर्तन आ रहे हैं।

एमथ्रीएम फाउंडेशन के सीईओ एन.पी गुप्ता ने कहा यह पहला मोका हैं जब एमथ्रीएम फाउंडेशन और चेतना संस्था के साथ मिलकर समर कैम्प का आयोजन कर रहे हैं और 160 बच्चों को मोका मिला और यह सुरुआत हैं हम लोग चाहेंगे इन सभी बच्चों के लिए आगे भी इसी प्रकार कार्य करते रहे। गवर्नमेंट बॉयज सीनियर सेकेंडरी स्कूल बादशाहपुर से प्रधानाचार्य अनुराधा शर्मा ने इस पहल को सड़क एवं कामकाजी बच्चों के लिए महत्पूर्ण बताया और स्कूल के और से इस सभी प्रतिभागियों को बधाई दी और आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया।