बॉस चैम्पियनशिप जीतने वाले महावीर बने पहले भारतीय फॉर्मूला रेसर

  |    October 5th, 2017   |   0

इमोला (स्पोटर्स डेस्क)- महावीर रघुनाथन ने बीते रविवार रात को इटली के इमोली में आयोजित हुई प्रतिष्ठित बॉस जीपी चैम्पियनशिप (फॉर्मूला क्लास) की अंतिम दो रेस में विजय हासिल करते हुए खिताब अपने नाम किया। वह इसी के साथ यूरोपियन रेसिंग चैम्पियनशिप जीतने वाले पहले भारतीय बन गए हैं। 

इस रेस में दुनिया भर से आए 20 दिग्गज रेसरों के बीच चेन्नई के 19 साल के इस युवा ने सात राउंड में 263 अंक लेकर खिताब पर कब्जा जमाया।

भारत के शीर्ष रेसर नारेन कार्तिकेयन ने 1994 में ब्रिटिश फॉर्मूला फोर्ड और 1996 में फॉर्मूला एशिया सीरीज पर कब्जा जमाया था। करुण चंडोस ने भी एशिया में कुछ खिताब जीते हैं।

महावीर (कोलोनी मोटरस्पोर्ट की पीएस रेसिंग टीम का हिस्सा) का यह सीजन शानदार रहा है। उन्होंने सातों राउंड में शीर्ष-3 में जगह बनाई है। उन्होंने रविवार को अपनी पहली रेस की मंजिल तय की।

दूसरी रेस में भाग्य ने उनका साथ दिया। उनके मुख्य प्रतिद्वंद्वी इटली के सालवाटोरे दे प्लानो (एमएम इंटरनेशनल स्पोर्ट) ने चौथे लेप में अपने आप को रेस से बाहर कर लिया था। दे प्लानो 243 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर रहे। दूसरे स्थान पर आस्ट्रिया के जोहान लेडेरेमाइर रहे। उन्होंने रेस में 247 अंक हासिल किए।

जीतने के बाद महावीर रघुनाथन ने कहा, ‘‘इसमें काफी मजा आया। मैं पी1 हासिल कर सका और फिर चैम्पियनशिप जीत सका, इस बात से मैं बेहद खुश हूं। यह शानदार है। इससे मेरे आत्मविश्वास में इजाफा होगा। मैं अपनी टीम कोलोनी मोटरस्पोर्ट की पीएस रेसिंग को दिल से शुक्रिया कहना चाहता हूं।

कार्टिंग में रेस की बारीकियां सीखने के बाद महावीर ने 2012 में फॉर्मूला का रूख किया और पहली बार जेके एशिया रेसिंग सीरीज में कदम रखा। उन्होंने 2013 में एमआरएफ फॉर्मूला 1600 में शिरकत की। चानी फॉर्मूला मास्टर्स की तीन रेसों में भी उन्होंन हिस्सा लिया।

2014 में महावीर ने यूरोप गए और इटालियन फॉर्मूला 4 चैम्पियशिप में एफ एंड एम से जुड़ गए। 2015 में उन्होंने यूरोपियन फॉर्मूला 3 चैम्पियनशिप में मोटोपार्क अकादमी की तरफ से हिस्सा लिया। 2016 साल उनका सबसे शानदार रहा। इस साल उन्होंने कोलोनी की इटालियन पीएस रेसिंग की तरफ से आॅटो जीपी रेसिंग में कुल दूसरा स्थान हासिल किया।