संस्कारित बालिकाएं सशक्त राष्ट्र का आधार :डा.रिखबचन्द जैन

  |    May 29th, 2018   |   0

आठ दिवसीय आर्य कन्या चरित्र निर्माण शिविर का सम्मपन 

एक बालिका के निर्माण से दो परिवारों का निर्माण -डा.अनिल आर्य

नई दिल्ली (भारती शर्मा)- अशोक विहार फेज-2 स्थित गीता भारती पब्लिक स्कूल में केन्द्रीय आर्य युवती परिषद् दिल्ली प्रदेश के तत्वावधान में चल रहे आठ दिवसीय ‘‘विशाल आर्य कन्या चरित्र निर्माण व व्यक्तित्व विकास शिविर’’ का शानदार समापन किया गया। यह शिविर 20 मई से शुरू किया गया था। आठ दिनों तक चले इस शिविर में 185 बालिकाओं ने भाग लिया  और योगासन,जूडो कराटे,लाठी,तलवार,लेजियम,डम्बल,स्तूप,संध्या यज्ञ व भारतीय संस्कृति का प्रशिक्षण प्राप्त किया।समापन समारोह के मुख्य अतिथि टी.टी.ग्रुप चेयरमैन डा.रिखबचन्द जैन ने कहा कि संस्कारित बालिकायें ही सशक्त राष्ट्र का आधार हो सकती हैं। आज लड़के औेर लड़कियों की जनसंख्या में अनुपात बराबर न होने के कारण समाज में कई प्रकार की समस्यायें पैदा हो रही है। समाज को कन्या भ्रूण हत्या से होने वाली समस्या को गम्भीरता से समझना चाहिए।केन्द्रीय आर्य युवक परिषद् के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा.अनिल आर्य ने कहा कि भौतिकवाद के युग में देश की नयी युवा पीढ़ी संस्कारों से दूर होती जा रही है एैसे समय में इन चरित्र निर्माण शिविरों का महत्व और अधिक बढ़ जाता है कि वह संस्कारवान बने ओर साथ ही वह अपनी पुरातन भारतीय संस्कृति पर गर्व करना सीखें। इन शिविरों से ही सबल राष्ट्र का निर्माण होगा । उन्होंने बताया कि केन्द्रीय आर्य युवक परिशद् द्वारा 22 शिविरों का आयोजन ग्रीषम अवकाश में विभिन्न स्थानों पर चल रहा है।समारोह अध्यक्ष रचना आहूजा ने कहा कि जो यहां रह कर सीखा है वह हमेशा याद रखना है तथा वह सब जीवन पर्यन्त काम आएगा। वैदिक विद्वान आचार्य प्रेमपाल शास्त्री,रविदेव गुप्ता,जितेन्द्र डावर,अर्चना पुश्करना,नीता खन्ना,अनिता कुमार,आचार्य विजय भूषण आर्य आदि ने अपने विचार रखे। प्रदेश अध्यक्षा उर्मिला आर्या ने कुशल संचालन किया।

शिविर अध्यक्ष शिक्षाविद् राजरानी अग्रवाल ने कहा कि कन्याओं के निर्माण का कार्य सराहनीय प्रयास है हम इस पुनीत कार्य को जारी रखेंगे। श्रीमती प्रवीन आर्या,सरस्वती,चिंकी व अनिता आर्या ने भजन सुनाए।

आगामी विशाल आर्य युवक चरित्र निर्माण शिविर शनिवार, 9 जून से 17 जून 2018 तक दयानन्द मॉडल स्कूल,विवेक विहार,पूर्वी दिल्ली में लगेगा जिसमें 300 आर्य युवक भाग लेगे ।