डीयू एड्मिशन में अनियमित्ताओं के मुद्दे पर हुए प्रदर्शन में केवाईएस भी शामिल

  |    June 13th, 2019   |   0

छात्र संगठनों ने की ऊंची रजिस्ट्रेशन फीस को तुरंत कम करने की भी उठाई मांग

नई दिल्ली (भारती शर्मा)- डीयू एड्मिशन में हो रही अनियमित्ताओं के मुद्दे को लेकर विभिन्न छात्र संगठनों ने प्रदर्शन किया। आर्ट्स फ़ैकल्टी पर हुए प्रदर्शन में केवाईएस ने भी शामिल हो कर छात्रों के हक की बात की।  प्रदर्शन कर रहे छात्र संगठनों का आरोप था कि डीयू में ओबीसी छात्रों से ली जा रही बड़ी फीस। दिल्ली राज्य समिति के सदस्य हरीश गौतम ने बताय कि इस बार से ईडबल्यूएस कोटा के तहत भी छात्रों को एड्मिशन दिया जा रहा है।

दोनों श्रेणियों के लिए मान्य होने के लिए पारिवारिक आय 8 लाख से कम होनी चाहिए। इसके बावजूद ईडबल्यूएस कोटा वाले छात्रों से 300 रुपए लिए जा रहे हैं, जबकि ओबीसी कोटा वाले छात्रों से 750 रुपए लिए जा रहे हैं।

इस पर सवाल यह उठता है कि जब दोनों श्रेणियों में मान्य होने के लिए आर्थिक आधार एक ही है, तो फिर दो अलग-अलग फीस क्यों वसूली जा रही हैं।

इस विषय को लेकर कार्यकर्ताओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने डिप्टी डीन, स्टूडेंट्स वेल्फेयर से मुलाक़ात की, लेकिन उन्होने इस बारे में बात करने पर मुद्दे से भटकाने की कोशिश की। इसके बावजूद, प्रतिनिधिमंडल ने इस भारी अनियमित्ता को तुरंत खत्म करने की मांग की है। साथ ही, छात्रों को फॉर्म में हुई गलतियों को सुधारने का मौका देने की भी मांग उठाई गयी| इसके अतिरिक्त, सभी छात्रों से ली जाने वाली रजिस्ट्रेशन फीस को तुरंत खत्म कर उनसे ज्यादा लिए गए पैसे को वापस देने की भी मांग की गई।

मुलाक़ात के दौरान इस मांग को भी उठाया गया कि जिन कोर्सों में एड्मिशन एंट्रैन्स टेस्ट के आधार पर है, उसमें प्रश्नपत्र को हिन्दी में भी उपलब्ध कराया जाये, क्योंकि छात्रों की एक बड़ी संख्या हिन्दी-माध्यम के सरकारी स्कूली से पढ़कर आती है। बहुसंख्यक छात्रों से जुड़ी इन सभी मांगों को अगर जल्द नहीं माना गया, तो केवाईएस अपना आंदोलन तेज़ करेगा।