डीटीयू में बेहतर सुविधाओं के लिए पिछले सालों में बढ़ाई गई है चिकित्सकों व मशीनों की संख्या

  |    January 1st, 2021   |   0

नई दिल्ली 1जनवरी 2021 (राजेश शर्मा)- दिल्ली प्रौद्योगिकी विश्वविद्याल शिक्षा के साथ अपने विद्यर्थियों व कर्मचारियों के स्वास्थ्य के प्रति भी पूरी तरह सजग है। डीटीयू कुलपति प्रो. योगेश सिंह के अनुसार बेहतर सुविधाओं के लिए विश्वविद्यालय के स्वास्थ्य केंद्र मेंचिकित्सकों व मशीनों की संख्या भी बढ़ाई गई है। उन्होने बताया कि कोरोना महामारी (कोविड-19) के दौरान ये स्वास्थ्य केंद्र 24 घंटे आकस्मिक परिस्थितियों के लिए तैयार है। महामारी को देखते हुए इस केंद्र में ऑक्सीज़न कन्संट्रेटर, ऑक्सीज़न सिलेन्डर व नेब्यूलाइजर जैसी जरूरी सुविधाएं हर समय उपलब्ध हैं।  

स्वास्थ्य केंद्र के इंचार्ज डॉक्टर रवि बंसल ने बताया कि हालांकि महामारी के चलते विश्वविद्यालय में विद्यार्थी बहुत कम आ रहे हैं, उसके बावजूद स्वास्थ्य केंद्र का स्टाफ मुस्तैदी से काम कर रहा है। जिस मरीज में कोरोना के लक्षण नज़र आते हैं, उसे बाहर डिस्पेंसरी में टैस्ट के लिए भेजा जाता है। उन्होने बताया कि लक्षण पाए जाने वाले स्टाफ सदस्य को विश्वविद्यालय द्वारा शुल्क प्रदान किया जाता है।

डॉ. बंसल के अनुसार पिछले 3-4 सालों में इस स्वास्थ्य केंद्र में बेहतर सुविधाएं जुटाई गई हैं। चिकित्सकों की संख्या बढ़ाने के साथ-साथ आधुनिक चिकित्सा उपकरण भी जुटाए गए हैं। उनका कहना है कि डीटीयू कुलपति प्रो. योगेश सिंह के कुशल नेतृत्व में विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से स्वास्थ्य केंद्र को हर तरह की सहायता मिल रही है। हर समस्या का तुरंत समाधान होता है। दवाइयों की खरीद से लेकर उपकरण आदि आवश्यक सामाग्री की खरीद तक, सभी चीजों की उपलब्धता तुरंत होती है।

वर्तमान में उपलब्ध सुविधाएं

डॉ. बंसल के अनुसार डीटीयू स्वास्थ्य केंद्र में प्राथमिक चिकित्सा सुविधा की पूर्ण व्यवस्था है। इसके साथ ही इस केंद्र में विद्यार्थियों व विश्वविद्यालय स्टाफ के लिए समान्य चिकित्सक, अस्थि विशेषज्ञ, नेत्र रोग विशेषज्ञ, स्त्री रोग विशेषज्ञ, मनोचिकित्सक व फिजोथ्रेपिस्ट आदि की सुविधाएं उपलब्ध हैं। चिकित्सीय सुविधा के साथ ही शुगर जांच, ईसीजी, नेबोलाइजेशन, ऑक्सीज़न, डिजिटल डेंटल एक्स-रे व एमरजेंसी के लिए बैड तथा एंबुलेंस की सुविधा भी उपलब्ध है।

ये हैं भावी विस्तार की योजनाएं

डाक्टर रवि बंसल के अनुसार नेत्र जांच की मशीन के लिए प्रक्रिया जारी है जोकि जल्द ही उपलब्ध होगी। इसके अलावा भविष्य में खून जांच की मशीन, बड़ी एक्स-रे मशीन, अल्ट्रासाउंड मशीन व कुछ अन्य विशेष सुविधाओं के लिए भी प्रक्रिया शुरू की जाएगी। उन्होने विश्वास जताते हुए कहा कि कुलपति प्रो. योगेश सिंह के कुशल नेतृत्व में ये सुविधाएं भी शीघ्र शुरू हो जाएंगी।