विख्‍यात वैज्ञानिक तथा मनो-चिकित्‍सक डॉ. प्रकाश बेहरे फिर पहुंचे वर्धा

  |    June 13th, 2019   |   0

वर्धा(संवाददाता)- जाने-माने वैज्ञनिक तथा डॉ.बी.सी. रॉय राष्‍ट्रीय सम्‍मान प्राप्‍त विख्‍यात मनो-चिकित्‍सक प्रो. डॉ. प्रकाश बेहरे हाल ही में वर्धा नगरी में वापस लौटे है। वे पिछले तीन वर्षों से कोल्‍हापुर स्थित डी. वाई. पाटिल एज्‍युकेशन सोसायटी, डिम्‍ड विश्‍वविद्यालय में कुलपति के रूप में कार्यरत थे। अपने तीन वर्ष का सफल कार्यकाल पूर्ण कर वे वर्धा के जवाहरलाल नेहरू आयुर्विज्ञान संस्‍थान सावंगी में सेवारत हुए हैं।

प्रो. डॉ. प्रकाश बेहरे

डॉ. बेहरे का नाम आयुर्विज्ञान जगत में एक नामी मनो-चिकित्‍सक के तौर पर लिया जाता है। स्‍वास्‍थ्‍य के क्षेत्र में वंचितों की सेवा के लिए उनके काम की दखल राष्‍ट्रीय तथा अंतरराष्‍ट्रीय पटल पर ली गयी है और इसी के लिए उन्‍हें सन 2008 में बी.सी. रॉय नेशनल अवार्ड भी मिला है। उन्‍होंने पोस्‍ट ग्रेज्‍युएट इंस्टिटयूट ऑफ मेडिकल एज्‍युकेशन एण्‍ड रिसर्च, चंडिगढ़ से सन 1978 में मनो-चिकित्‍सा में एमडी किया। उन्‍हें सन 2014 में नेशनल एकेडमी ऑफ मेडिकल साइंसेस की फैलोशिप प्राप्‍त हुई तथा वे 2018 में इंटरनेशनल इंस्टिटयूट ऑफ साइकोलॉजीकल मेडिसिन ऑफ यूएसए, ऑस्‍ट्रेलिया और यू. के. के फैलो भी रहे हैं।

आयुर्विज्ञान के क्षेत्र में उल्‍लेखनीय सेवा के लिए उन्‍हें डॉ. डीएलएन मूर्ति राव अवार्ड, एन. एन. डे अवार्ड, पूना साइकेट्री सोसायटी अवार्ड, राजामुंद्री मानसा अवार्ड, डॉ. एल. पी. शाह अवार्ड, डॉ. वी. एन. बगाडिया लाइफ टाइम एचिवमेंट अवार्ड तथा मारफाटिया अवार्ड जैसे प्रतिष्ठित पुरस्‍कार प्राप्‍त हुए हैं। वे यूके की चेस्‍टर यूनिवर्सिटी में विजिटिंग प्रोफेसर तथा यूएसए की जॉर्जिया सदर्न यूनिवर्सिटी में एक्‍जंट फैकल्‍टी भी रहे हैं। पूर्व में उन्‍होंने बनारस हिंदु विवि की इंस्टिटयूट ऑफ मेडिकल साइंसेस में मनो-चिकित्‍सा विभाग में रीडर तथा दत्‍ता मेघे आयुर्विज्ञान संस्‍थान में अनुसंधान एवं विकास विभाग में बतौर निदेशक कार्य किया है। उन्‍होंने बताया कि लोगों की सेवा के लिए वे प्रत्‍येक शुक्रवार को मनो-चिकित्‍सा विभाग में ओपीडी में उपलब्‍ध रहते हैं।