यूनिवर्सिटी शेफ-2020 प्रतियोगिता श्यामलाल कॉलेज में संपन्न

  |    March 8th, 2020   |   0

लक्ष्मीबाई कॉलेज की नम्रा और कालिंदी कॉलेज की इंशा की टीम बनी विजेता

नई दिल्ली (संवाददाता)- दिल्ली यूनिवर्सिटी के इवेंट्स कलेंडर में अपनी खास जगह रखनेवाली यूनिवर्सिटी शेफ प्रतियोगिता- 2020 का 5-6 मार्च के दौरान श्यामलाल कॉलेज में सफलतापूर्वक आयोजन किया गया। यह श्यामलाल कॉलेज द्वारा हर साल आयोजित की जानेवाली यूनिविर्सिटी शेफ प्रतियोगिता का प्रांचवा और सबसे सफल संस्करण रहा, जिसे आईएसएस कैटरिंग सर्विस प्राइवेट लिमिटेड और गस्टोरा फूड्स द्वारा प्रायोजित किया गया।

उत्तर पूर्वी दिल्ली के तनावपूर्ण माहौल और विपरीत मौसम के बावजूद दिल्ली और एनसीआर की विभिन्न टीमों ने इस प्रतियोगिता में अपनी पाक कला का प्रदर्शन किया। सेलेब्रिटी शेफ नीता मेहता इस प्रतियोगिता की चीफ गेस्ट थीं, जबकि होटल सम्राट के शेफ मुकेश कुमार, शेफ वीता सिंह, डीजीएम- द अशोक होटल और मास्टर शेफ इंडिया फेम जतिन खुराना ज्यूरी में शामिल थे। इनका स्वागत कॉलेज के प्राचार्य प्रो. रबि नारायण कर और प्रतियोगिता के संयोजक अब्बास तापादार और सुश्री सुप्रीति मिश्रा द्वारा किया गया।

अंतरमहाविद्यालय राउंड्स के पहले दिन लक्ष्मी बाई कॉलेज, भारती विद्यापीठ, लेडी इरविन कॉलेज, ललित सूरी हॉस्पिटैलिटी इंस्टीट्यूट, टेडको और वेदाताया इंस्टीट्यूट और श्यामलाल कॉलेज की टीमों ने भाग लिया. पहले दिन सभी टीमों से स्ट्रीट फूड्स में हाथ आजमाने और सीक्रेट मिस्ट्री बास्केट से कोई डिश बनाने के लिए कहा गया। साथ ही उन्हें नाचोस से कोई नया प्रयोग करने की भी चुनौती दी गई. प्रतियोगिता के दूसरे दिन प्रतिभागियों को किसी भी राज्य का फुल थ्री कोर्स मील बनाने और उसे उसी अंदाज में पड़ोसने की चुनौती दी गई।

शेफ मुकेश कुमार ने इस दिन प्रतिभागियों और दर्शकों के सामने तीन विभिन्न प्रकार के सलादों को तैयार करने की विधि की नुमाइश की। इस प्रतियोगिता की एक खास बात यह थी कि इस बार सभी प्रतिभागियों को गैस चूल्हे की जगह इंडक्शन टॉप का इस्तेमाल करना था।
समापन समारेह में मुख्य अतिथि नीता मेहता और ज्यूरी मेंबर्स शेफ मुकेश कुमार, शेफ वीता सिंह और शेफ जतिन खुराना ने प्रतिभागी टीमों के कुलिनरी स्किल्स की सराहना की और उन्हें पाक-कला के गुर बताए।

कॉलेज प्रार्चा प्रो. रबि नारायण कर ने सभी प्रायोजकों और प्रतिभागियों का शुक्रिया अदा किया. उन्होंने खासतौर पर प्रतिभागियों की इस बात के लिए तारीफ की कि इलाके में दंगों के कारण तनावपूर्ण माहौल के बावजूद उनके जोश में कोई कमी नहीं आई और वे दूर-दूर से इस में भाग लेने के लिए आए और अपने हुनर को सबके सामने रखा. लक्ष्मीबाई कॉलेज और कालिंदी कॉलेज से नम्रा और इंशा की टीम को विजेता जबकि भारती विद्यापीठ की सोनिया और भावना की टीम को रनर अप और लेडी इरविन कॉलेज की साक्षी सिंघल और आयेशा परवीन की टीम को सेकंड रनर-अप घोषित किया गया।