व्यापारियों के लिए दिल्ली सरकार शीघ्र लांच करेगी ऑनलाइन ‘दिल्ली बाजार’ : केजरीवाल

  |    August 23rd, 2020   |   0

नई दिल्ली, 23 अगस्त (शशिधर शुक्ला)- दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज दिल्ली के व्यापारियों से ऑनलाईन बात करते हुए बताया कि दिल्ली सरकार व्यापारियों के लिए शीघ्र ही ऑनलाइन ‘दिल्ली बाजार’ लॉंच करेगी। ताकि पूरी दुनिया जान सकेगी कि दिल्ली में क्या माल बनता या बिकता है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली के बाजार अंतरराष्ट्रीय मानकों के होने चाहिए। हमने चांदनी चौक का ट्रायल आधार पर पुर्नविकास किया है। इसी तर्ज पर बाकी मार्केट और दिल्ली की सभी सड़कों को भी खूबरसूरत बनाएंगे। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली की अर्थ व्यवस्था को गति देने के लिए दिल्ली सरकार ने डीजल के दाम कम किए और रोजगार बाजार पोर्टल शुरू करने के साथ कई सारे कदम उठाए हैं।

दिल्ली में सार्वजनिक परिवहन की समस्या को खत्म करने के लिए हम केंद्र सरकार से लगातार बात कर रहे हैं और उम्मीद है कि केंद्र सरकार जल्द ही मेट्रो शुरू करने की अनुमति दे देगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज यह बातें दिल्ली की अर्थ व्यवस्था को पटरी पर लाने के उद्देश्य से दिल्ली के सभी व्यापारियों के साथ वर्चुअल संवाद के दौरान कही।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कोरोना महामारी की वजह से दिल्ली की अर्थव्यवस्था को पहुंचे नुकसान की भरपाई करने और कारोबार को गति देकर अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के सम्बंध में व्यापारियों से सुझाव मांगे। मुख्यमंत्री ने व्यापारियों से मिले अच्छे सुझावों को आने वाले दिनों में लागू करने का आश्वासन दिया है।

आज की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में शामिल ‘आप’ ट्रेड विंग के कन्वीनर बृजेश गोयल ने बताया कि आज की मीटिंग में दिल्ली के तमाम बड़े बाजार चांदनी चैक, सदर बाजार, चावड़ी बाजार, खारी बावली, कश्मीरी गेट, करोल बाग, कनॉट प्लेस, लाजपत नगर, खान मार्केट, साउथ एक्स, सरोजिनी नगर, लक्ष्मी नगर,  गांधीनगर, राजौरी गार्डन आदि बाजारों के प्रतिनिधि शामिल हुए।

इसके अलावा होटल, रेस्टोरेंट, बैंक्विट, ट्रांसपोर्ट व सैलून पार्लर आदि के साथ बड़ी संख्या में महिला कारोबारी भी उपस्थित रहीं। आज की मीटिंग में बड़ी संख्या में व्यापारियों ने अपने सुझाव दिए, जो व्यापारी समय के अभाव के कारण आज अपनी बात नहीं रख पाए, उनसे भी सुझाव मांगे गए हैं और अगले कुछ दिनों में दिल्ली के हर एक मार्केट और अलग-अलग सेक्टर के व्यापारियों से भी सुझाव आ जाएंगे।