दिल्ली कोरोना ऐप – लोगों के साथ धोखा, कोरोना मरीजों को नही मिल रही है इससे कोई सहायता : चौ. अनिल कुमार

  |    June 4th, 2020   |   0

नई दिल्ली (भारती सैनी)- दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार ने दिल्ली सरकार कटाक्ष करते हुए कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने दिल्ली के अस्पतालों में मरीजों की सहूलियतों के लिए दिल्ली कोरोना एप 2 जून को लॉच तो किया परंतु दिल्ली के सरकारी और प्राईवेट किसी भी अस्पताल में लोगों को बेड नही मिल रहे है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली कोरोना एप दिन में दो बार प्रातः 10 बजे और शाम 6 बजे अपडेट होता है और कोरोना एप के अनुसार खाली बेड होने के बावजूद अस्पताल मरीजों को बेड क्यों नही दे रहे है। चौ. अनिल कुमार आज प्रदेश कार्यालय राजीव भवन में वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए संवाददाताओं को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि दिल्लीवासियों को इस सच्चाई का पता चल चुका है कि केजरीवाल प्रतिदिन नई-नई घोषणाऐं करके लोगों के साथ विश्वासघात कर रहे है। वीडियो कांफ्रेसिंग में चौ. अनिल कुमार के साथ प्रदेश उपाध्यक्ष अली मेंहदी भी मौजूद थे।

चौ. अनिल कुमार ने दिल्ली में बढ़ते कोरोना संक्रमितों की संख्या पर बोलते हुए कहा कि दिल्ली में हालात केजरीवाल सरकार के नियंत्रण से पूरी तरह निकल गए है। उन्होंने कहा कि पिछले एक सप्ताह में कोविड़-19 संक्रमितों की संख्या में 35 प्रतिशत से भी अधिक मरीजों की वृद्धि हुई है। जबकि पिछले एक सप्ताह में 8389 नए मरीज बढ़े है और 303 यानि कुल संख्या की 50 प्रतिशत मृत्यु हुई है। उन्होंने कहा कि आज दिल्ली कोविड-19 मरीजों की संख्या देश में तीसरे नम्बर पर है और आज कोरोना केस 23645 है जबकि 606 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। उन्होंने कहा कि मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ-साथ मृत्यु दर में बढ़ौत्तरी हो रही है।

चौ. अनिल कुमार ने केजरीवाल सरकार पर दिल्लीवासियों को गुमराह करने का आरोप लगाया क्योंकि दिल्ली कोरोना एप के मुताबिक अस्पतालों में बेड खाली बताए जा रहे है परंतु जरुरतमंद कोविड-19 संक्रमित लोगों को अस्पताल यह कहकर बेड मुहैया नही करा रहे है कि बेड खाली नही है। उन्होंने कहा कि इससे केजरीवाल सरकार की चरमराई प्रशासनिक व्यवस्था उजागर होती है। उन्हांने कहा कि केजरीवाल कोरोना एप के नाम पर दिल्लीवासियों को धोखा दे रहे है।


चौ. अनिल कुमार ने लोगों का दुख बयान करते हुए कहा कि दिल्ली कोरोना एप के अनुसार लोक नायक अस्पताल में बेड खाली था और अमरप्रीत ने आज सुबह 8 बजे केजरीवाल को ट्वीट भी किया। एलएनजेपी अस्पाल में बेड खाली होने के बावजूद उनके पिता के लिए बेड नही दिया गया और एक घंटे बाद उनकी मृत्यु हो गई। 2 जून को 72 वर्षीय न्यू फ्रेंडस कालोनी निवासी मौ. सुलेमान एम्बूलेंस में लगभग 10 अस्पतालों में गए परंतु किसी ने भी उन्हें एडमिट नही किया। कई घंटे एम्बूलेंस में आक्सीजन पर चलते हुए आखिर में उनकी भी मृत्यु हो गई।

चौ. अनिल कुमार ने बताया कि उनको शंकर महरोलिया का मदद के लिए फोन आया था,  जिनकी ताई कोरोना मरीज थी, मैक्स अस्पताल पटपड़गंज ने उनको बेड होने के बावजूद भी बेड नही दे रहा था तब मैं खुद आधी रात को मैक्स अस्पताल पटपड़गंज गया और अधिकारियां से बातचीत की, कि मरीज को एडमिट किया जाए जबकि उन्होंने यह कहकर मना कर दिया कि उनके पास बेड नही है। तब मैंने कोरोना एप पर 80 बेड खाली होने का हवाला भी दिया बावजूद इसके मरीज को एडमिट नही किया गया। उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार अपने झूठे बयानों से दिल्ली वालों को भ्रमित करके मानसिक रुप से प्रताड़ित करना बंद करे। ऐसे हालातों का सामना करके उनका मनोबल टूट रहा है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल अपने आप को दिल्ली का बेटा कहते है, तो इस दुख की घड़ी में दिल्ली का बेटा कहां छिपा बैठा है?