कांग्रेस सरकार ने हमेशा दिल्ली में उद्योग धंधों को बसाकर उनकी रक्षा है : अनिल भारद्वाज

  |    November 22nd, 2017   |   0

लघु उद्योगों को सील किए जाने के विरोध में आदर्श नगर जिला कांग्रेस कमेटी के कार्यकर्ताओं ने धरना दिया 

नई दिल्ली(भारती शर्मा)- दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन के निर्देश पर आदर्श नगर जिला कांग्रेस कमेटी की ओर से आप पार्टी की दिल्ली सरकार और भाजपा की निगम सरकारों द्वारा दिल्ली में लघु उद्योगों को सील किए जाने के खिलाफ आज त्रिनगर के पुराना बस स्टेण्ड पर हजारों कांग्रेस कार्यकर्ताओं व उद्योगपतियों ने धरना दिया।

धरने में वरिष्ठ कांग्रेस नेता चतर सिंह के अलावा पूर्व विधायक अनिल भारद्वाज, हरी किशन जिंदल, चमन लाल शर्मा, पीवीसी मैन्यूफैर्क्चर एसोसिएशन के अध्यक्ष रोशन लाल गर्ग, पूर्व निगम पार्षद एन. राजा, मनोज यादव, सतेन्द्र शर्मा व रोशन लाल अहुजा सहित सैंकड़ो कांग्रेस कार्यकर्ता व लघु उद्योगपति भी मौजूद थे।

धरने को सम्बोधित करते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता चतर सिंह ने कहा कि यूपीए सरकार में शहरी विकास मंत्री रहे अजय माकन ने 2021 के मास्टर प्लान में सैंकड़ों लघु उद्योगों को रिहायशी क्षेत्रों में चलाने की अनुमति दी थी, क्योंकि इन उद्योगों से क्षेत्र में किसी प्रकार का प्रदूषण नही फैलता। चतर सिंह ने कहा कि जब-जब भाजपा सरकार सत्ता में आई है तब-तब उसने छोटे उद्योग धंधों को गलत नीतियां बनाकर बर्बाद किया है।

जिससे न सिर्फ छोटे-छोटे व्यापारी भुखमरी के कगार पर गए है बल्कि बड़े स्तर पर बेरोजगारी भी फैली है। उन्होंने कहा कि भाजपा की बी-टीम के रुप में तीन वर्षो में दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार ने  भी जन विरोधी कार्य किए है जबकि जनता ने उनके बहकावे में आकर दिल्ली में आप पार्टी को अप्रत्याशित बहुमत दिया था।

चतर सिंह ने कहा कि पहले तो नोटबंदी ने छोटे उद्योगपतियों, दुकानदारों व आम जनता को परेशानी में डाला उसके बाद रही सही कसर भाजपा सरकार जीएसटी को लागू करके पूरी कर दी। उन्होंने कहा कि लोग अभी नोटबंदी और जीएसटी के कहर से उभर भी नही पाए थे और अब दिल्ली में आप पार्टी की दिल्ली सरकार और भाजपा की निगम सरकारों ने दिल्ली में चल रहे छोटे उद्योगों को बिना किसी वाजिब कारण के सील करना शुरु कर दिया है। जिसमें छोटे गोदाम व दुकानें सम्मलित है।

त्रिनगर से पूर्व विधायक अनिल भारद्वाज ने धरने को सम्बोधित करते हुए कहा कि जब कभी दिल्ली और केन्द्र में कांग्रेस की सरकारें रही है, उस समय दिल्ली में उद्योग धंधों को बसाकर उनकी रक्षा हुई है। उन्होंने कहा कि मैं त्रिनगर से 10 वर्ष विधायक रहा परंतु एक भी फैक्टरी को न तो किसी ने नाजायज तरीके से तंग किया और न ही उन पर ताला लगा। उन्होंने कहा कि हमने दिल्ली की मुख्यमंत्री श्रीमती शीला दीक्षित से कई बार मास्टर प्लान में आने वाले उद्योगों को सूची में डलवाया था।