वेतन वृद्धि पर दिल्ली एन.एच.एम. के स्वास्थ्य कर्मियों ने जताया सीएम केजरीवाल का आभार

  |    November 10th, 2017   |   0

  अनुबंधित कर्मचारियों को शीघ्र ही मिलेगा नियमित कर्मचारियों के समान वेतन

नई दिल्ली (आर.के. शर्मा) -समान कार्य समान वेतन के मुद्दे पर  दिल्ली के एन.एच.एम. स्वास्थय कर्मचारियों के 50 दिनों तक हडताल पर बैठे 3000 कर्मीयों की मागों को पूरा करते हुए  सी.एम. अरविंद कजेरीवाल ने अनुबंधित कर्मचारियों को नियमित कर्मचारियों के समान कार्य के लिए समान वेतन की मांग को पूरा कर दिया हैं। जिससे दिल्ली के स्वास्थ्य कर्मचारियों में खुशी की लहर हैं।
दिल्ली स्टेट एनएचएम/आरसीएच/आरएनटीसीपी/आईडीएसपी/एनएलईपीय/एनपीसीबी (ऑल वर्टिकल प्रोग्राम) एक्शन कमेटी के पदाधिकारियों के साथ 3000 हजार कर्मचारी भारी संख्या मेंस्टाफ नर्स, एग्जिलरी नर्स एंड मिडवाईफ , पब्लिक हैल्थ नर्स , एडमिनिस्ट्रेशन स्टाफ, फार्मासिस्ट, लैब तकनिशियन, ट्यूबरक्लोसिस हैल्थ विजिटर, ऑपरेशन थिएटर असिस्टेंट, ऑपरेशन थिएटर टेक्निशियन, एन्सथेसिस्ट, , सुपरवाईजर, डाटा एंट्री आपरेटर, क्लर्क, ड्रेसर आदि ने मुख्यमंत्री अरंविद केजरीवाल  व स्वास्थ्य मंत्री संत्येन्द्र जैन का माल्यापर्ण व पुष्प गुच्छ भेट कर वेतन वृदि के लिए धन्यवाद किया।

इस मौके पर स्वास्थ्य कर्मचारियों के बच्चों ने भी अपने अभिवाको जो कि दिल्ली के सभी 36 अस्पतालों,  दिल्ली सरकार 500 डिस्पेंसरीयों, पॉली क्लिनिक्स, सीड पीयूएचसी (सीड प्राईमरी अर्बन हैल्थ सेंटर), एम.सी.डी MCD के मातृ व शिशु कल्याण  स्वास्थ्य केंद्रों में कार्यरत हैं। उनके वेतन बढाए जाने की मागं को पूरा कर उनके आत्मसम्मान को बढाने के लिए जो काम किया है उसके लिए मुख्यमंत्री को स्वंय शुभकमाना के संदेश देकर आभार प्रकट किया।
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मीडिया कर्मियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि दिल्ली मे आम आदमी की सरकार स्वास्थ्य के प्रति सजग हैं। और दिल्ली के सभी नागरिको को बेहतर सुविधाए देने के लिए दृढ़संकल्प हैं।
श्री केजरीवाल ने कहा कि आम आदमी की सरकार ने अपने चुनावी मैनीफ्स्टो में संविदा व अनुबंधित कर्मचारीयों को पक्का करने समान कार्य समान वेतन देने के वादे किए थे उन वादों के प्रति हमारी सरकार हर स्तर पर प्रयासरत है।
एन.एच.एम. स्वास्थ्य यूनियन अध्यक्षा भावना ने बताया कि बीते 50 दिनों से चल रही हङताल के कारण दिल्ली के सरकारी अस्पतालों, डिसपेंसरियों, मौहल्ला-कलिनिकों में स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित थी।

गौरतलब है कि कर्मचारियों की ये मांगे पिछले 20 वर्षो से लंबित थी, हमने कई बार पूर्व की सरकारो के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ चर्चा कर व सङको पर उतर प्रदर्शन कर अपनी मांगों को प्रशासन तक पहुचाया है। लेकिन पूर्व राज्य सरकार चाहे कोंग्रस या बीजेपी हो सबने हमे उपेक्षित ही किया है।  मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने संवय संज्ञान लेते हुए हमारी बातों को गंभीरता से लिया और उनका समाधान कर स्वास्थ्य कर्मियों को राहत देते हुए सभी अनुबंधित कर्मचारियों के वेतन को बढा दिया हैं।
भावना ने बताया कि एनएचएम स्वास्थ्य यूनियन व सरकार के बीच तालमेल बनाने में विधायक कमांडों सुरेंद्र सिंह व सचिवालय अधीक्षक रतनेश कुमार ने अहम भूमिका निभाई।