पीबीएल नीलामी में प्रणॉय की रही सबसे अधिक 62 लाख रुपये की बोली

  |    October 9th, 2017   |   0

पीबीएल-3 का तीसरा संस्करण 22 दिसम्बर, 2017 से 14 जनवरी, 2018 तक 

हैदराबाद (संवाददाता/खेल डेस्क)- वोडाफोन प्रीमियर बैडमिंटन लीग (पीबीएल) सीजन-3 की नीलामी सोमवार को हुई, जिसमें भारत के पुरुष खिलाड़ी एचएच प्रणॉय ने सबसे अधिक 62 लाख रुपये की बोली हासिल की जबकि भारत के नम्बर-1 पुरुष एकल खिलाड़ी किदाम्बी श्रीकांत के लिए 56.1 लाख रुपये की बोली लगी। प्रणॉय को अहमदाबाद स्मैश मास्टर्स ने अपने साथ जोड़ा जबकि श्रीकांत इस साल अवध वॉरियर्स के लिए खेलते दिखेंगे।

उभरते हुए बैडमिंटन खिलाड़ी समीर वर्मा को मुम्बई रॉकेट्स ने 52 लाख रुपये में खरीदा जबकि अजय जयराम को नार्थ ईस्ट वॉरियर्स ने 45 लाख रुपये में अपने साथ जोड़ा। एक टीम को नीलामी के दौरान टीम तैयार करने के लिए 2.12 करोड़ रुपये खर्च करने थे और किसी एक खिलाड़ी के लिए टीमें अधिकतम 72 लाख रुपये की बोली लगा सकती थी।

देश की सबसे चमकदार महिला बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु को चेन्नई स्मैशर्स ने 48.75 लाख में रिटेन किया और ओलम्पिक कांस्य पदक विजेता सायना नेहवाल को अवध वारियर्स ने 41.2 लाख रुपये में अपने साथ बनाए रखने का फैसला किया। दोनों दिग्गज बीते सीजन में भी इन्हीं टीमों के लिए खेली थीं।

ओलम्पिक चैम्पियन कैरोलिना मारिन, वर्ल्ड नम्बर-1 ताइवान की ताए जू यिंग और कोरिया की सुंग जी ह्यून के रहते तीसरे सीजन में महिला खिलाड़ियों का स्तर देखते ही बनता है।

विदेशी स्टार में चीन के तियान होवेई को दिल्ली एसर्स ने 58 लाख रुपये में अपने साथ किया। इंग्लैंड के क्रिस एडकॉक को चेन्नई स्मैशर्स ने 54 लाख में, ताए जू यिंग को अहमदाबाद स्मैश मास्टर्स ने 52 लाख रुपये में, वांग जू वेई को नार्थ ईस्ट वारियर्स ने 52 लाख रुपये में, वर्ल्ड नम्बर-1 डेनमार्क के विक्टर एक्सेलसेन को बेंगलुरू ब्लास्टर्स ने 50 लाख रुपये में, कोरिया के सोन वान हो को मुम्बई रॉकेट्स ने 50 लाख रुपये में, कोरिया के ली योंग देई को मुम्बई राकेट्स ने 48 लाख रुपये में खरीदा।

दिन का सबसे चमकता सितारा प्रणॉय साबित हुए। इस साल प्रणॉय ने अपने शानदार खेल के दम पर विश्व रैंकिंग में काफी तरक्की हासिल की है। वह पीबीएल-2 में अजेय रहे थे और यही कारण है कि अहमदाबाद टीम ने उन पर दांव खेला। हर टीम उन्हें अपने साथ जोड़ना चाहती थी लेकिन नई टीम अहमदाबाद और पुरानी टीम मुम्बई के बीच जोरदार बोली लगी और अंतत: अहमदाबाद को सफलता मिली।

इस साल प्रणॉय ने बीते साल की तुलना में 250 फीसदी अधिक रकम हासिल की है। बीते साल उन्हें 25 लाख रुपये मिले थे। इस साल लीग के सबसे महंगे खिलाड़ी बनने के बाद प्रणॉय की खुशी देखने लायक थी।

प्रणॉय ने संवादादाता सम्मेलन में कहा, ‘‘मैं हैरान हूं। मैंने इतनी उछाल की उम्मीद नहीं की थी। मैंने सोचा था कि बीते साल की तुलना में इस साल 10-15 लाख रुपये अधिक मिल जाएंगे लेकिन यह आंकड़ा सचमुच चौंकाने वाला है। मैं बेहद खुश हूं। अहमदाबाद स्मैश मास्टर्स के साथ मैं नए सीजन का बेसब्री से इंतजार करूंगा।’’

प्रणॉय ने कहा कि इतनी भारी रकम हासिल करने के बाद वह एक तरह का दबाव महसूस कर रहे हैं लेकिन ऐसे में जबकि वर्ल्ड नम्बर-1 ताए जू यिंग उनकी टीम में हैं, तो वह खुद को काफी हद तक आत्मविश्वास से भरपूर पा रहे हैं। प्रणॉय के मुताबिक उनकी टीम में भारतीय और विदेशी खिलाड़ियों का अच्छा मिश्रण है और इसी कारण किसी भी टीम के लिए इस साल उसे हरा पाना मुश्किल होगा।

दिसम्बर में शुरू हो रहे पीबीएल के तीसरे सीजन में इस साल आठ टीमें हिस्सा लेंगी और प्रत्येक टीम में 10 खिलाड़ी शामिल होंगे। 10 खिलाड़ियों की टीम बनाने के लिए प्रत्येक फ्रेंचाइजी को 2.12 करोड़ रुपये का पर्स मिला था। इन टीमें में से अधिकांश ने अपनी रकम खर्च कर दी लेकिन हैदराबाद और नार्थ ईस्ट टीमों के पास अब भी 19-19 लाख रुपये शेष हैं।

प्रत्येक टीम अपने साथ बेहतर डबल्स खिलाड़ी रखना चाहती थी क्योंकि ऐसे में खिलाड़ी इस लीग के फॉरमेट के साथ बेहतर तालमेल बना सकते हैं।

बीएआई अध्यक्ष और पीबीएल चेयरमैन हिमंता बिसवा सरमा ने नीलामी को लेकर काफी खुश जाहिर की। उन्होंने कहा, ‘‘जैसी की उम्मीद थी, नीलामी काफी रोचक रही। हर टीम संतुलन चाहती थी और अब स्थिति यह है कि कौन विजेता होगा, यह कहना मुश्किल है। मैं मानता हूं कि कोई भी टीम चैम्पियनशिप जीत सकती है।’’

लीग के प्रोमोटर-स्पोटर्सलाइव के कार्यकारी निदेशक प्रसाद मांगीपुडी ने कहा, ‘‘यह नीलामी के लिहाज से रोचक दिन रहा। यह देखा गया कि हर टीम अपने टारगेट को लेकर काफी साफ राय रखती थी और उनके पास प्लान-बी भी था। प्रत्येक टीम के पास एक मजबूत लाइनअप है और ऐसे में एक रोचक सीजन दिखाई दे रहा है।’’

हर टीम ने 10 खिलाड़ियों का चयन किया। इनमें से एक आयकन खिलाड़ी होगा। एक टीम में अधिकतम पांच विदेशी खिलाड़ी और कम से कम तीन महिला खिलाड़ी हैं। बीएआई की जरूरतों के मुताबिक अब प्रत्येक टीम को अंडर-17 खिलाड़ियों के साथ करार करना होगा, जिससे कि इन खिलाड़ियों को जरूरी अनुभव मिल सके।

पीबीएल-3 का आयोजन 22 दिसम्बर, 2017 से 14 जनवरी, 2018 तक होगा। हर टीम लीग स्तर पर पांच मुकाबले खेलेगी। प्लेइंग शिड्यूल ड्रॉ के माध्यम से तय होगा और हर टाई में पांच मैच होंगे। इनमें दो पुरुष एकल, एक महिला एकल, एक पुरुष युगल और एक मिश्रित युगल। मैच 15 प्वाइंट फारमेट पर होंगे औ्र प्रत्येक मैच में तीन गेम होंगे।

24 दिनों तक चलने वाली इस सील में आठ टीमें-दिल्ली एसर्स, मुम्बई रॉकेट्स, बेंगलुरू ब्लास्टर्स, चेन्नई स्मैशर्स, हैदराबाद हंटर्स, नार्थ ईस्टर्न वॉरियर्स, अहमदाबाद स्पैश मास्टर्स औ्र अवध वॉरियर्स एक्शन में दिखेंगे।

पीबीएल सीजन-3 का प्रसारण स्टार स्पोर्ट्स नेटवर्क पर होगा और इसकी लाइव स्ट्रीमिंग हॉटस्टार पर होगी।

पीबीएल नीलामी के कुछ तथ्य :

कुल टीमें : 8

प्रतिस्पर्धी दिन : 24 (22 दिसम्बर, 2017 से 14 जनवरी, 2018)

आयोजन स्थल : 5

नीलामी में शामिल खिलाड़ी : 120

कुल देश (प्रतिनिधित्व) : 11

टॉप-10 रैकिंग के कुल खिलाड़ी : 17

टॉप-20 रैंकिंग के कुल खिलाड़ी : 20

आईकॉन खिलाड़ी (भारतीयों सहित) : 9 (तीन भारतीय)

ओलम्पिक पदकधारी खिलाड़ी : 10

विश्व चैम्पियनशिप 2017 के पदकधारी : 8

नीलामी में शामिल कुल भारतीय : 82

हर टीम का पर्स : 2.12 करोड़ रुपये

एक खिलाड़ी के लिए सर्वाधिक बोली : 71 लाख

प्रतियोगिता की पुरस्कार राशि : 6 करोड़ ( विजेता 3 करोड़. उपविजेता 1.5 करोड़, तीसरे और चौथे स्थान  पर आने वाली टीमें : 75 लाख)