खराब मौसम की चेतावनी- आगामी दिनों के लिए देश के विभिन्न राज्यों के मौसम का पूर्वानुमान

  |    April 21st, 2018   |   0

नई दिल्ली (समाचार डेस्क/ पीआईबी)- 20 अप्रैल (दिन-01) : जम्मू एवं कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के छिटपुट इलाकों में तेज हवाओं और ओलावृष्टि के साथ आंधी की संभावना है।

  • उत्तर प्रदेश, उत्तरी राजस्थान, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, झारखंड, ओडिशा, असम, मेघालय, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, तेलंगाना, कर्नाटक, उत्तर तटीय आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और केरल में कुछ स्थानों पर आंधी और तेज हवाएं चलने की संभावना है।
  • पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और बिहार के कुछ स्थानों पर आंधी और धूल भरी हवाएं चलने की संभावना है।
  • जम्मू एवं कश्मीर, दक्षिण असम एवं मेघालय और मिजोरम एवं त्रिपुरा के छिटपुट स्थानों पर भारी वर्षा की संभाव
  • ना है।
  • विदर्भ के एक-दो स्थानों पर लू चलने की परिस्थितियां बनने की संभावना है।
  • पश्चिम बंगाल-ओडिशा तटों के आसपास स्थित इलाकों में 25-35 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने की संभावना है, जिनकी गति 45 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार तक पहुंच सकती है। इसके साथ समुद्री हालात खराब हो सकते हैं। मछुआरों को सलाह दी जाती है कि वे समुद्र में न जाएं और तटों पर सावधानी बरतें।     

21 अप्रैल (दिन-02): पश्चिम बंगाल एवं सिक्किम में हिमालय के नजदीकी इलाकों के कुछ स्थानों पर तेज हवाओं और ओलावृष्टि के साथ आंधी की संभावना है।

  • झारखंड और गंगा क्षेत्रीय पश्चिम बंगाल के छिटपुट इलाकों में आंधी और धूल भरी हवाएं चलने की संभावना है।
  • ओडिशा, असम एवं मेघालय, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, दक्षिण छत्तीसगढ़ और केरल में आंधी और तेज हवाएं चलने की संभावना है।
  • असम एवं मेघालय तथा मिजोरम एवं त्रिपुरा के छिटपुट स्थानों पर भारी वर्षा की संभावना है।
  • पश्चिम बंगाल-ओडिशा तटों के आसपास स्थित इलाकों में 40-50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने की संभावना है। इसके साथ समुद्री हालात खराब हो सकते हैं। मछुआरों को सलाह दी जाती है कि वे समुद्र में न जाएं और तटों पर सावधानी बरतें।
  • आईएनसीओआईएस के मौसम अनुमान के आधार पर भारत के पश्चिमी तट के आसपास समुद्री हालात खराब से बहुत खराब हो सकते हैं। पश्चिमी तट के दक्षिणी हिस्से और लक्ष्यद्वीप क्षेत्र में सुबह समुद्री हालात खराब हो सकते हैं। मछुआरों को सलाह दी जाती है कि वे समुद्र में न जाएं और तटों पर सावधानी बरतें।

22 अप्रैल (दिन-03): पश्चिम बंगाल एवं सिक्किम में हिमालय के नजदीकी इलाकों के कुछ स्थानों पर तेज हवाओं और ओलावृष्टि के साथ आंधी की संभावना है।

  • गंगा क्षेत्रीय पश्चिम बंगाल के छिटपुट इलाकों में आंधी और धूल भरी हवाएं चलने की संभावना है।
  • तेलंगाना, तमिलनाडु, अंदरूनी कर्नाटक और केरल के छिटपुट स्थानों पर आंधी और तेज हवाएं चलने की संभावना है।
  • आईएनसीओआईएस के मौसम अनुमान के आधार पर अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह के पश्चिमी तट के आसपास समुद्री हालात खराब से बहुत खराब हो सकते हैं। मछुआरों को सलाह दी जाती है कि वे समुद्र में न जाएं और तटों पर सावधानी बरतें।

23 अप्रैल (दिन-04): जम्मू एवं कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में लू चलने की परिस्थितियां बनने की संभावना है।

  • आईएनसीओआईएस के मौसम अनुमान के आधार पर अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह के पश्चिमी तट के आसपास समुद्री हालात पूर्ववत बने रह सकते हैं। मछुआरों को सलाह दी जाती है कि वे समुद्र में न जाएं और तटों पर सावधानी बरतें।

24 अप्रैल (दिन-05): तेलंगाना के छिटपुट स्थानों पर आंधी और तेज हवाएं चलने की संभावना है।

  • जम्मू एवं कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में लू चलने की परिस्थितियां बनने की संभावना है।