कोरोना संक्रमण से आजादपुर मंडी के चार लोगों ने गवाई जान, प्रशासन अब भी लापरवाह : अनिल मल्होत्रा

  |    May 15th, 2020   |   0

नई दिल्ली(राजेश शर्मा)- आजादपुर मंडी में कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या चार होगई है वहीं केशोपुर मंडी का एक व्यापारी भी कोरोना की भेंट चढ़ चुका है। इसके अलावा गाजीपुर मंडी में भी कोरोना ने दस्तक देदी है, वहां भी कुछ लोग कोरोना के संक्रमण में आ चुके हैं। जिसके कारण मंडी को दो दिन बंद करके पूरी तरह सेनेटाईज किया जा रहा है।

मंडियों में बढ़ रही मौत के आंकड़ों सेमंडी कोरोबारियों व कामकगारों में प्रशासन के प्रति रोष बढ़ा है। अदजादपुर मंडी में करोना से चार मौतें हो चुकी हैं, वहीं एक व्यापारी केशोपुर मंडी में भी कोरोना से दम तोड़ चुका है। दो दिन पहले अजादपुर मंडी के 59 वर्षिय डिप्टी सेक्रेट्री श्याम लाल भी करोना पॉजिटिव पाए गए हैं। आजादपुर मंडी के वरिष्ठ व्यापारी अनिल मल्होत्रा एवं अमित गुप्ता ने यह जानकारी दी।

अनिल मल्होत्रा ने बताया कि आजादपुर मंडी में चार साथियों की मौत और एक साथी की चौ. चेतराम मंडी केशोपुर में हुई मौत से व्यापारियों में प्रशासन के खिलाफ रोष है। सब्जी मंडियों में घोर लापरवाही कर रहे अधिकारियों के प्रति मंडी के व्यापारी व काम करने वाले लोगों का गुस्सा दिनों-दिन तेज हो रहा है।

अनिल मल्होत्रा ने मंडी से जुड़े कई मुद्दों पर बात करते हुए प्रशासन पर आरोप लगाए। मल्होत्रा ने कहा कि यहां न मास्क बांटे जा रहे हैं, न सैनेटाइजर है। एक सैनेटाइज की मशीन लगाई गई थी, वो भी कुछ दिन बाद हवा व बारिश में गिर गई, उसके बाद कोई सुध नहीं ली गई। उन्होंने कहा कि एपीएमसी अधिकारियों द्वारा मंडी को 6 घंटे खोलने का नियम बना कर व्यापारियों को बे-वजह प्रताड़ित किया जा रहा। मंडी प्रशासन द्वारा अभी तक कर्मचारियों को सैलरी नहीं दी गई है।

उन्होंने कहा कि कोरोना से मरने वालों को मुआवजा देने के लिए प्रशासन के साथ हुई बैठक में निर्णय लिया गया था कि मंडी में काम करने वाले किसी भी व्यक्ति की कोरोना से मौत होने पर उसके परिवार को मुआवजा दिया जाएगा। मुआवजे के लिए व्यापारियों ने एक करोड़ की मांग रखी थी और प्रसाशन ने 50 लाख की बात कही, लेकिन इस पर भी अभी तक कुछ नहीं दिया गया।

अनिल मल्होत्रा ने कहा कि मंडी के हालात बहुत खराब हैं। पूरी मंडी कोरोना वायरस की चपेट में है लेकिन एपीएमसी अधिकारियों एवं चेयरमेन आदिल खान अभी भी मंडी की जमीनी हकीकत से बेखबर हैं। उन्होंने कहा कि यदि प्रसाशन इसी तरह मंडी की हकीकत से बेखबर रहा तो वह दिन दूर नहीं जब अजादपूर मंडी कोरोना हॉटस्पॉट में ना बदले जाए।