अखिल भारतीय पुलिस जूडो क्लस्टर चैंपियनशिप-2017 सम्पन्न

  |    April 22nd, 2018   |   0

एस.एस.बी 28 गोल्ड समेत 49 पदक जीते कर पदक तालिका में प्रथम स्थान पर

नई दिल्ली (राजेश शर्मा)- दूसरी अखिल भारतीय पुलिस जुडो क्लस्टर चैंपियनशिप-2017 के अंतर्गत इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में 5 दिनों तक चले जिमनास्टिक्स, वुशु, तायक्वोंडो और जूडो के शानदार मुकाबले सम्पन्न।  इस प्रतियोगिता में केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों और राज्य पुलिस की कुल 34 टीमों के 1114 खिलाड़ी (800 पुरुष और 314 महिला) ने भाग लिया। टूर्नामेंट का आयोजन एसएसबी द्वारा किया।

प्रतियोगिता में कुल 254 पदक के लिए मैदान पर उतरे विभिन्न राज्यों के पुलिस बल व केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों की टीमों ने अपना बेहतरीन प्रदर्शन किया। इस प्रतियोगिता में सबसे मजबूत रही एस.एस.बी की टीम जिसने कुल 49 पदक जीते जिसमें 28 गोल्ड, 11 सिल्वर और 10 कांस्य पदक जीत कर पदक तालिका में प्रथम स्थान प्राप्त किया। सी.आर.पी.एफ टीमें 7 गोल्ड के साथ कुल 31 मेडल जीत कर दूसरे स्थान पर रही, बीएसएफ ने 2 गोल्ड समेत 20 पदक जीत कर तीसरे स्थान पर रही। कुछ टीमों का प्रदर्शन काफी कमजोर रहा जिसमें झारखंड पुलिस को केवल एक गोल्ड से संतोष करना पङा वहीं गोवा और तमिलनाडू की टीमें केवल एक-एक कांस्य पदक जीतने में ही सफल हो पाई।

सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) की  टीम ने ओवरआल चैंपियन ट्रॉफी अपने नाम की। जिमनास्टिक्स में बीएसएफ तथा सीआईएसएफ टीम ने बाजी मारी, जबकि  एसएसबी टीम उपविजेता रही।

एसएसबी के जिमनास्ट कपिल को सर्वश्रेष्ठ जिमनास्ट घोषित किया गया ।पुरुष वर्ग में वुशु स्पर्धा में एसएसबी की टीम का प्रदर्शन सर्वश्रेष्ठ रहा और चैंपियनशिप चैंपियनशिप ट्राफी अपने नाम की और राजस्थान की टीम रनर अप रहीI जबकि महिला श्रेणी में एसएसबी चैंपियन बनी और दुसरे स्थान पर सीआरपीएफ  रही।

पुरुष वर्ग में जूडो स्पर्धा में पंजाब की टीम विजेता रहीI वही एसएसबी की टीम रनर-अप रही। महिला वर्ग में एसएसबी टीम ने जूडो ट्रॉफी जीती और सीआरपीएफ उपविजेता रही।पुरुष वर्ग तायक्वोंडो श्रेणी में एसएसबी की  टीम ने चैंपियनशिप अपने नाम की और सीआरपीएफ के खिलाड़ी दुसरे स्थान पर रहे। इसके अतिरिक्त एसएसबी की महिला टीम ने तायक्वोंडो ट्रॉफी जीती और सीआरपीएफ टीम रनर-अप रही।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि आसूचना ब्यूरो निदेशक राजीव जैन (आईपीएस) ने विजेता और उपविजेता टीमों को सम्मानित किया। इस अवसर पर सभी केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित रहे।