एआईबीए महिला यूथ विश्व मुक्केबाजी चैमिपयनिशप में सभी की निगाहें आज शशि व अंकुशिता पर

  |    November 24th, 2017   |   0

गुवाहाटी(खेल डेस्क)-एआईबीए महिला यूथ विश्व मुक्केबाजी चैमिपयनिशप में शुक्रवार को चार भारतीय मुक्केबाज सेमीफाइनल में अपनी किस्मत आजमाने उतरेंगी। इनमें से शशि और अंकुशिता पर खासतौर पर सभी की निगाहें होंगी, क्योंकि इन दोनों ने अपने-अपने भारवर्ग में अब तक बेहतरीन प्रदर्शन किया है।

शुक्रवार को फ्लाई, फीदर, वेल्टर, मिडिल और हेवी कटेगरी में कुल 10 मुकाबले होने हैं। भारत के अलावा रूसी प्रतिनिधिमंडल ने भारत की बराबरी करते हुए सेमीफाइनल में अधिक से अधिक जगह बनाई है।

कजाकिस्तान की दो मुक्केबाज अंतिम-4 की चुनौती पेश करेंगे जबकि चीन, मंगोलिया, थाईलैंड, ताइपे, आयरलैंड, जापान, पोलैंड, तुर्की, इंग्लैंड और वियतनाम के एक-एक खिलाड़ी सेमीफाइनल में अपनी किस्मत आजमाएंगे।

सौभाग्य की बात यह है कि भारत और रूस के मुक्केबाज शुक्रवार को किसी भी भार वर्ग में एक दूसरे के सामने नहीं उतरेंगे।

भारत की ज्योति को फ्लाईवेट में कजाकिस्तान की अबराएमोवा झानसाया से भिड़ना है। झानसाया ने इससे पहले अमेरिका की हेवन गार्सिया को हराया है और उन्हें खिताब का दावेदार माना जा रहा है।

अगली बारी शशि चोपड़ा की होगी, जिन्हें मंगोलिया की मोंघोर नामुन से भिड़ना है। नामुन को एक कड़ा विपक्षी माना जाता है। वह न सिर्फ आक्रामक हैं बल्कि तेज भी हैं तथा उनके पास कई अच्छे पंच हैं।

इसके बाद बारी भारत की सबसे प्रतिभाशाली मुक्केबाज अंकुशिता बोरो की है। बोरो को स्थानीय लोगों का जबरदस्त समर्थन मिलेगा और वह इसी के दम पर थाईलैंड की साकश्री थानचानोक को हराने का प्रयास करेंगी। थाई खिलाड़ी ने बीते मुकाबले में पोलैंड की बोरेस पेट्रिका को हराया था।

सेमीफाइनल मे जगह बनाने वाली भारत की चौथी मुक्केबाज नेहा यादव हैं। नेहा को फाइनल में जगह बनाने के लिए कजाकिस्तान की इस्लामबेकोवा डिना से भिड़ना है। कजाक खिलाड़ी काफी हार्ड हिटिंग और प्रतिभाशाली है। नेहा को जीत हासिल करने के लिए अपना श्रेष्ठ खेल दिखाना होगा।

भारत के पदक जीतने की सम्भावनाओं पर भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के हाई परफारमेंस निदेशक राफेल बेर्गामास्को ने कहा-मैं अच्छे प्रदर्शन पर जोर देता हूं और इसी कारण मैं कभी पदक नहीं गिनता। अगर आप अच्छा खेलेंगे तो पदक आएंगे। मैंने सात पदकों का लक्ष्य रखा था और मुझे गर्व है कि मैंने यह लक्ष्य हासिल कर लिया।

राफेल न कहा कि उनकी तैयारी पूरी है और इस क्रम मे उनकी टीम ने अपने-अपने विपक्षी खिलाड़ियों का वीडियो देखा है और उसी हिसाब से अपनी रणनीति बनाई है। मैंने कोचों को इंडिविडुअल मेथोडोलाजी दूंगा और उन पर काम करने के लिए कहूंगा।–

भारत के अलावा इंग्लैंड की जार्जिया ओकानोर औऱ चीन की यांग या चू तथा रूस की अनास्तासिया शामोनोवा और पोलैंड की नटालिया एम, के मुकाबले काफी रोचक होंगे और दर्शकों को अच्छा मुकाबला देखने को मिलेगा। इसके अलावा चीन और वियतनाम की मुक्केबाजों के बीच होने वाला मुकाबला भी काफी रोचक होगा।